खिचड़ी के खम्भा पर अड़ल शिक्षा

0
59

खिचड़ी के खम्भा पर अड़ल शिक्षा
गरीब लइकन में बाँटाता दीक्षा
मध्यान्ह भोजन के
जवन मोल होला पंचर ट्रक के टायर के टोचन के
बस उहे बुझीं दुपहर के भोजन के
सरकारी पाठशाला में
शिक्षा के धर्मशाला में
गुरु जी के गोशाला में
जहवां ना पढाई बा
ना लिखाई
खिचड़ी के भारी खम्हा से दबाइल बा शिक्षा
परीक्षा
गंवई स्कूल में
गइनी जे भूल से
लइकवा जुरुर बन जाई चपरासी
बस के खलासी
इहे सरकार के नीति बा
रीति बा
शिक्षा के असली रूप बंद बा
प्राइवेट स्कूलन के खजाना में
जवन भारी फ़ीस के भोझ से
दबाइल बा
सरकारी स्कूल त बा नावे के
खिचड़ी के डभकत बा
लइकन के सपना
कबो कबो बिसमतिया(छिपकली )के संगे
त कबो तेलचट्टा के
संगे संगे डभकेला लइकन के भविष्य
तबहूँ रेडियो आ टीवी पर शिक्षा के विकास देखावल
जाता
सडल चाउर आ दाल के दुआर पर
खिचड़ी बटत बा
पढाई घटत बा
खिचड़ी खियावल जाता
एकरे बाले भारत के भविष्य बनावल जाता

रचनाकार: संतोष पटेल

एह पोस्ट पऽ रउरा टिप्पणी के इंतजार बा।

Please enter your comment!
Please enter your name here

fourteen + ten =