बिहार में प्रदर्शित “जोरू के गुलाम” के गुलाम हुए दर्शक

0
210

शैला इंटरटेनमेंट के बैनर तले बनी निर्माता करुनेश कश्यप की भोजपुरी “जोरू के गुलाम” 21 जून को बिहार में रिलीज हुयी है जिसे दर्शक खूब पसंद कर रहे हैं। फिल्म के कार्यकारी निर्माता धर्मेन्द्र कुमार हैं। ‘जोरू के गुलाम’ एक ऐसी भोजपुरी फिल्म है जिसमें दिखाया गया है कि आज के समय में किसी भी क्षेत्र में महिलाएं पुरुषों से कम नहीं हैं, लेकिन आमतौर पर यह होता है कि पुरुष बाहर काम करते हैं और महिलायें घर का। लेकिन अगर स्त्री बाहर काम करे और पुरुष घर का काम भले ही अपनी स्वेच्छा से करे, तो आस पास के लोग उसे जोरू का गुलाम कहते हैं। इस फिल्म को महिलाएं भी के देख रही है।
इस फिल्म के एडीटर-डायरेक्टर गुड्डू जाफ़री, लेखक-गीतकार करूनेश कश्यप एवं संजय झरेला, संगीतकार प्रदीप, कोरियोग्राफर ज्ञान सिंह, एक्शन मास्टर हीरा यादव, आर्ट डायरेक्टर महेन्द्र सिंह एवं कैमरामैन दिनेश आर. पटेल हैं। इस फिल्म में पंकज केसरी, कोमल चैहान, प्रीति, बृजेश त्रिपाठी, हीरा यादव, करूनेश कश्यप, रवि रंजन, प्राची कश्यप, संजय झरेला, उपेन्द्र सिंह, हरेश यादव, बलिराम यादव, शकाल, त्रिभुवन पासवान, प्रीतम पटेल, दीपा, निर्मला व अन्य की मुख्य भूमिका है।

बिहार में प्रदर्शित “जोरू के गुलाम” के गुलाम हुए दर्शक

एह पोस्ट पऽ रउरा टिप्पणी के इंतजार बा।

twenty − 8 =