अबरा के मेहरारू गाँव भर के भउजाई

0
174

कमजोर के मेहरारू से सभे माज़क करेला। अइसन बुझाला जे सारा समाज ओकर देवर लागत होखे आ ओसे माज़क कइल आपन अधिकार बुझात होखे। ओकर पति जदि सबल होइत त दोसर लोग ओकरा मेहरारू से मज़ाक से डेराइत। दूबर भइल से केहू ओकरा मेहरारू के कुछ गुदानत नइखे। कहल जाला, लोग त लोग, कमजोर के दइबो सतावेलन।

कमजोर के समान, चीज प सब केहू आपन हक जतवेला।

SHARE
Previous articleअबर घोड़ी के साँझे पेयान
Next articleआँख के पुतरी
जोगीरा डॉट कॉम भोजपुरी के ऑनलाइन सबसे मजबूत टेहा में से एगो टेहा बा, एह पऽ भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री के टटका ख़बर, भोजपुरी कथा कहानी, भोजपुरी किताब, भोजपुरी साहित्य आ भोजपुरी से जुड़ल समग्री उपलब्ध बा।

एह पोस्ट पऽ रउरा टिप्पणी के इंतजार बा।

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen + 8 =