चुनाव में लागल भोजपुरी के छ्व्का

0
173

उत्तर भारत की बड़ी राजनीतिक पार्टियों के चुनावी अभियान में भोजपुरी बेहद महत्वपूर्ण भूमिका में नजर आएगी। भोजपुरी फिल्मों के दोनों सुपर स्टार मनोज तिवारी और रवि किशन के बीच इस बार चुनावी ढिसुम-ढिसुम होने वाली है। जबकि भोजपुरी सिनेमा में ग्लैमर का तड़का लगाने वाली नगमा कांग्रेस की धुन पर पहले से ही ठुमके लगा रही हैं। उधर, आम आदमी पार्टी ने भी अब भोजपुरी कलाकार रीना रानी को राजनीतिक झाड़ू थमा दी है। इस फिल्मी मायाजाल के अलावा भाजपा जल्द ही नरेंद्र मोदी के पूरे के पूरे भाषण भी भोजपुरी में सुनवाने जा रही है।

पूर्वाचल में इन दिनों राजनीतिक प्रचार में भोजपुरी गानों का जमकर इस्तेमाल हो रहा है। इसी तरह भले ही भाजपा के प्रधानमंत्री उम्मीदवार नरेंद्र मोदी भोजपुरी का एक शब्द भी नहीं जानते हों, लेकिन पार्टी उनका पूरा का पूरा भाषण भोजपुरी में तैयार कर रही है। वह भी उन्हीं की आवाज में। यह काम डबिंग करने वाले कलाकारों की मदद से होगा। मगर सुनने वाले अपनी क्षेत्रीय भाषा में उनकी सारी बात सुन और समझ सकेंगे।

राजनीतिक पार्टियां भोजपुरी भाषियों को लुभाने के लिए फिल्मी कलाकारों को भी जमकर तवज्जो दे रही है। भोजपुरी के सुपर स्टार और साथ ही बेहतरीन गायक मनोज तिवारी मोदी के समर्थन में उतर चुके हैं। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ चुके तिवारी दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हो गए थे। जबकि कांग्रेस ने जौनपुर से रवि किशन को अपना उम्मीदवार भी बना दिया है।

भोजपुरी सिनेमा की ग्लैमर गर्ल नगमा पहले से ही कांग्रेस का दामन थामे हैं। उन्हें पार्टी ने टीवी चैनलों पर होने वाली चर्चा में आधिकारिक प्रवक्ता बनाया हुआ है। लंबे समय तक यह भूमिका निभाने के बाद पार्टी अब उन्हें और बड़ी जिम्मेदारी दे सकती है। इस बार पार्टी चुनावों में भी उनका जमकर इस्तेमाल करने की तैयारी में है। इसी तरह हाल ही में भोजपुरी कलाकार रीना रानी ने आम आदमी पार्टी में शामिल होने का एलान किया है। उम्मीद है कि पार्टी उन्हें लोकसभा का टिकट भी देगी। भोजपुरी भाषी बिहार और उत्तर प्रदेश के अलावा दिल्ली में बहुत अहम भूमिका में हैं।

एह पोस्ट पऽ रउरा टिप्पणी के इंतजार बा।

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 + 11 =