भोजपुरी उपन्यास दाल भात तरकारी

0
123
भोजपुरी उपन्यास दाल भात तरकारी
भोजपुरी उपन्यास दाल भात तरकारी

भोजपुरी उपन्यास दाल भात तरकारी पऽ एगो नज़र

उपन्यास में कथा नायक मथुरा प्रसाद के जीवन कथा में उनकर मेहरारू, बेटा, ग्रामीण समाज, मील वरकर शामिल बाड़े।
समय बदल गइल बा खाली खेती बारी से घर खर्च नइखे चलके। आज के आदमी के नौकरी चाही। खरिहान के साथे साथ करखाना में नौकरी मील जाव त इ महंगाई में गृहस्ती के गाड़ी घिचल आसान हो जाई।

दाल भात तरकारी: भोजपुरी उपन्यास
लेखक: डा० रमाशंकर श्रीवास्तव

भोजपुरी उपन्यास डाउनलोड करे के खातिर क्लिक करी

एह पोस्ट पऽ रउरा टिप्पणी के इंतजार बा।

1 + four =