Home भोजपुरी साहित्य भोजपुरी दोहा

भोजपुरी दोहा

अन्न घुनाइल खाँखरा, फटक उड़ावे सूप

अन्न घुनाइल खाँखरा, फटक उड़ावे सूप

अन्न घुनाइल खाँखरा, फटक उड़ावे सूप। अवगुन कौड़ा तब मिटे, बनीं सूप अनुरूप।। सोना-सोना जे रटे, निनिआ भइल हराम। मेहनत मोती जे लुटे, सुख से करे अराम।। सदा...

जोगीरा के साथ जुड़ी

8,339FansLike
8FollowersFollow
295FollowersFollow

टटका अपडेट