विमल कुमार जी

विमल कुमार जी के लिखल छठी मईया सुखवा कबले भेंटी

बोझिल मन भारी दिल से करिला बरतिया, सास ससुर सवांग मिलल ना कवनों गतीया, बड़ी शारधा से करिला तोहरो भगतिया फेरि दऽ ना छठी माई...
छठ के गीत

कन्हैया प्रसाद रसिक जी के लिखल छठ के गीत

तन बा बिदेश मन गाँवे बा ए माई रहि रहि याद आवे छठ के पुजाई ।।उखिया शरीफा फल दउरा लेके माथे चलल रहि रहि याद आवे...
लाल बिहारी लाल जी

लाल बिहारी लाल जी के लिखल भोजपुरी गीत दीया खुशी के जलाव

घरे-घर खुशियां मनाव, दीया खुशी के जलाव घरे-घर खुशियां मनाव, बात अब ई फइलाव धरा बचावे खातिर बबुआ, अब त तूआगे आव अब ना छोड़ बम पटाखा,...
कन्हैया प्रसाद तिवारी रसिक जी

कन्हैया प्रसाद रसिक जी के लिखल भोजपुरी गीत जिनिगी

जिनिगी जंग ना ह जे जीतल जाव जिनिगी पतंग ना ह जे खिंचल जाव जिनिगी त दरिया के बहत पानी ह एह से सुनर समाज के सिंचल...
जयशंकर प्रसाद द्विवेदी

जयशंकर प्रसाद द्विवेदी जी के लिखल भोजपुरी गीत कवन नजीर देहलु गोरिया

हहरे मोरे हियरा के पीर करेजवा चीर देहलु गोरिया । काँपे लागल सभके जमीर कवन नजीर देहलु गोरिया ।गउवाँ के घरवा न लगे मनसायन ढ़ोल मजीरा भूलल, भूलल...
बोलिया पपीहरा के: गुड़िया पाण्डेय

बोलिया पपीहरा के

सुने खातिर बोलिया पपीहरा के हो बालम लेई चल$ गाँव में,निमिया के छाव में...सुने खातिर बोलिया कोइलिया के हो बालम लेई चल$ गाँव में,निमिया...
डॉ. हरेश्वर राय जी

हरेश्वर राय जी के लिखल तीन गो भोजपुरी गीत

मन उदास बासुक्खल नदी जस मन उदास बा ।चाँद जस आस में लागल बा गरहन, सपना के पाँखी प घाव भइल बड़हन, डेगे डेग पसरल खाली पियास बा।आँखी के बागी...
जयशंकर प्रसाद द्विवेदी

जयशंकर प्रसाद द्विवेदी जी के लिखल भोजपुरी गीत देवता

नाहीं उठेला जिनिगिया के भार देवता । जोरिहा हमसे पिरितिया के तार देवता ॥नइहर छूटल, छूटल सासु के दुवारिया कतहूँ न इंजोर लउके सगरों अन्हरिया बाझल जिनगी...
जलज कुमार अनुपम

भोजपुरी गीत पुरुवा बेयारवा हो राम आइल बा घर से

पुरुवा बेयारवा हो राम आइल बा घर से मनवा हो उखरल लागे अब त शहर से माई के आशिष लेले मेहरी के बाच बायन मनवा कचोटत काहे...
डाॅ पवन कुमार

डाॅ पवन कुमार जी के लिखल भोजपुरी गीत इहे बा जिनिगिया

हमनी किसनवन के इहे बा जिनिगिया इहे बा जिनिगिया हो ना ।जाड़ घाम बरखा सहि-सहि दिन रतिया खूनवा जराइके कराइले नू खेतिया आसरा लगाइके...
लाल बिहारी लाल जी

लाल बिहारी लाल जी के लिखल भोजपुरी गीत तीन शब्दन के जाल में

छुपके-छुपा के आँख से आंसू बहाइले केतनो भूलाये चाहीं, पर ना भुलाइले छुपके–छुपा के आँख से आँसू...........कइले रह तू वादा, साSथ निभावे के पल-पल संगे साथे, खुशियाँ...
डाॅ पवन कुमार

समाज के कोढ़ डाइन-प्रथा पर एगो भोजपुरी गीत

कवने कसूरवा रामा भइले दुरगतिया मोरा लोगवा डइनिया कहि के बोलावेला रे ना।।एक तऽ बिपत पड़ल धियवा-भतार मरल दोसरे कलंकवा मथवा मढ़ाएल रे ना।।निकलीले घर से,लोगवा...
डाॅ पवन कुमार

भोजपुरी गीत डाॅ पवन कुमार जी के लिखल

बिधना कइसे के मतिया मरा गइले अब तऽ घरही में पियवा भुला गइले। पढ़ल-लिखल पिया बाड़े बिदमान हो बइठल बेकार बाड़े नाहीं कवनो काम हो हमरा मनवा के...
डाॅ पवन कुमार जी के लिखल भोजपुरी गीत

डाॅ पवन कुमार जी के लिखल भोजपुरी गीत

पियबे करे ना हो पियबे करे ना हो पियबे करे ना तनिको बूझे नाहिं बतिया पियवा पियबे करे ना। सुनली कि बंद भइले दारू के बिकीरिया सोचली...
भोजपुरी आजादी गीत : अमला नन्द पाण्डेय 'शर्मीला'

भोजपुरी आजादी गीत

हाथवा के झंडा लिहले वीरवा बा खाड़ हे।। खोलबू त भारत अपनी दुलार हे ।। हाथवा तिरंगा लिहले वीरवा बा खाड़ हे।खोलबू तू भारत मइया बजर...
bhojpuri writer ghanshyam prajapati

दरद मोहब्बत के

करब इयाद रखिहा , सबर इयाद रखिहा मोहब्बत के कवनो ना घर इयाद रखिहा कहा से चली ई कहाँ तक ले जाइ एकर ना...
जयशंकर प्रसाद द्विवेदी

अब कइसे बबुआ नमाज पढ़े जइहें

अइसन भइल चीर-फार मिटी गइल आर - पार अब कइसे बबुआ नमाज पढ़े जइहें ||टभकेले रोज रोज मन के दरदिया बाबा के नावें से लागे सरदिया सपनों में...
Sujit singh

सुजीत सिंह के लिखल तीन गो भोजपुरी गीत

मेडल लेवे में आगारी बेईमान,मक्कार,चोर,झूठा,घुंसखोर आउर लमहर भ्रष्टाचारी बा, लेकिन महानता आ समाजिकता के मेडल लेवे में आगारी बा। आज ले जेकरा से केहू के कवनो भलाई...
लाल बिहारी लाल जी

गांधी जी …

आइल रहस गांधी जी भारत में संत बन के उनके परिश्रम से मुक्ति मिलल गोरन सेविगुल बाजल आजादी के सहर आ गांवे-गांव केतना देले कुरबानी भइल...
सुधर जा पड़ोसी : लाल बिहारी लाल

सुधर जा पड़ोसी – भोजपुरी गीत

बहुत हो गइल अब तS पड़ोसी सुधर जा सुधर जा सुधर जा हो.... तंग कर ना जन हमके बेसी सुधर जा सुधर जा सुधर जा हो....कर...

जोगीरा के साथ जुड़ी

15,680FansLike
15FollowersFollow
326FollowersFollow

टटका अपडेट