भोजपुरी फिल्मों में काम करना चाहते हैं गुलशन ग्रोवर

0
250

हिन्दी समेत कई अन्य भाषाओं की फिल्मों में अपने अभिनय कौशल से दर्शकों के दिल में अमिट छाप छोड़ने वाले बॉलीवुड के बैडमैन गुलशन ग्रोवर भोजपुरी फिल्मों में काम करना चाहते हैं। गुलशन ग्रोवर आज यहां गरीब बच्चों को शिक्षित करने की दिशा में कार्यरत एनजीओ संस्था ज्योति यूथ के पांचवे फांउडेशन डे में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करने आये हुये थे। गुलशन ग्रोवर ने यहां पहुंचकर राम लखन, शोला और शबनम जैसी कई फिल्मों में अपने बहुचर्चित डॉयलॉग से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। गुलशन ग्रोवर ने बॉलीवुड के साथ ही हॉलीवुड में भी अपने अभिनय का लोहा मनवाया है । गुलशन ग्रोवर ने भोजपुरी सिनेमा में काम करने संबंधी सवाल के जवाब में कहा “बॉलीवुड हो या हॉलीवुड सिनेमा सिनेमा होता है, यदि मुझे भोजपुरी में काम करने का अवसर मिलता और फिल्म की कहानी पसंद आती है तो खुशी-खुशी फिल्म में काम करना पसंद करूंगा।”

अमरीश पुरी, शक्ति कपूर, प्रेम चोपड़ा और रजा मुराद जैसे कई खलनायकों के इंडस्ट्री में होते हुये ‘बैडमैन’ बनने का किस्सा सुनाते हुए गुलशन ने कहा , “सुभाष घई की फिल्म राम लखन में उनके निभाये किरदार केसरिया विलायती के जरिये इंडस्ट्री ने उन्हें बैड मैन नाम दिया। अभिनय जीवन के सबसे चुनौतीपूर्ण किरदार को लेकर पूछे गये प्रश्न के उत्तर में गुलशन ने कहा “करियर के दौरान कई फिल्मों में काम किया है लेकिन फिल्म शोला और शबनम में उनका निभाया किरदार उन्हें काफी चुनौतीपूर्ण लगा। अभिनय, संवाद अदायगी और फिल्म में गेटअप के लिये कड़ी मेहनत करनी पड़ी थी।”

गुलशन ने अपने आरंभिक दिनों की चर्चा करते हुए कहा कि फिल्मों में आने से पहले वह एक्टिंग स्कूल में शिक्षक थे। इस दौरान कई सिने कलाकारों को मैने पढ़ाया। उन्होंने कहा कि हॉलीवुड हो या बॉलीवुड दर्शक नही पसंद करते तो मशहूर नही होता और आपके प्यार की वजह से आपके पास पहुंच पाया। इस अवसर पर सुपरहिट एलबम ‘बंद भईल नोट पांच सौ हज़ार के’ की गायिका ख़ुशबू उत्तम ने अपने कई सुपरहिट हिट के जरिये दर्शकों को मंत्रमुग्ध करदिया। खूशबू उत्तम ने गुलशन ग्रोवर की डिमांड पर बंद भईल नोट पांच सौ हजार गाना गाकर सुनाया जिसकी गुलशन ग्रोवर समेत हजारो की संख्या में आये लोगों ने जमकर तारीफ की।

अमरीश पुरी, शक्ति कपूर, प्रेम चोपड़ा और रजा मुराद जैसे कई खलनायकों के इंडस्ट्री में होते हुये ‘बैडमैन’ बनने का किस्सा सुनाते हुए गुलशन ने कहा , “सुभाष घई की फिल्म राम लखन में उनके निभाये किरदार केसरिया विलायती के जरिये इंडस्ट्री ने उन्हें बैड मैन नाम दिया।
अभिनय जीवन के सबसे चुनौतीपूर्ण किरदार को लेकर पूछे गये प्रश्न के उत्तर में गुलशन ने कहा “करियर के दौरान कई फिल्मों में काम किया है लेकिन फिल्म शोला और शबनम में उनका निभाया किरदार उन्हें काफी चुनौतीपूर्ण लगा। अभिनय, संवाद अदायगी और फिल्म में गेटअप के लिये कड़ी मेहनत करनी पड़ी थी।”

गुलशन ने अपने आरंभिक दिनों की चर्चा करते हुए कहा कि फिल्मों में आने से पहले वह एक्टिंग स्कूल में शिक्षक थे। इस दौरान कई सिने कलाकारों को मैने पढ़ाया। उन्होंने कहा कि हॉलीवुड हो या बॉलीवुड दर्शक नही पसंद करते तो मशहूर नही होता और आपके प्यार की वजह से आपके पास पहुंच पाया।

इस अवसर पर सुपरहिट एलबम ‘बंद भईल नोट पांच सौ हज़ार के’ की गायिका ख़ुशबू उत्तम ने अपने कई सुपरहिट हिट के जरिये दर्शकों को मंत्रमुग्ध करदिया। खूशबू उत्तम ने गुलशन ग्रोवर की डिमांड पर बंद भईल नोट पांच सौ हजार गाना गाकर सुनाया जिसकी गुलशन ग्रोवर समेत हजारो की संख्या में आये लोगों ने जमकर तारीफ की ।

एह पोस्ट पऽ रउरा टिप्पणी के इंतजार बा।

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × 3 =