छठी माई की भक्ति में डूबा पटना

0
69

लोक आस्‍था का महापर्व छठ की धूम आजकल लोगों पर सर चढ़कर बोल रहा है। सभी उगते और डूबते सूर्य को अर्घ देन की तैयारी में जुटने लगे हैं। नहाय खाय से लेकर सुबह की भगवान भास्‍कर को अर्घ का अपना ही आनंद है। इसी आनंद को संगीतमय करने के लिए गेट पब्लिक लाइब्रेरी, गर्दनीबाग पटना पहुंचे भोजपुरी के लोक गायक सह अभिनेता बने और दिल्‍ली से सांसद मनोज तिवारी, जुबली स्‍टार दिनेशलाल यादव निरहुआ, सुपर स्‍टार खेसारीलाल यादव, अभिनेत्री काजल राघवानी और आम्रपाली दुबे ने पटनाइट्स को झूमने पर मजबूर कर दिया।

मनोज तिवारी ने जब ‘हे छठी मईया….’ के साथ कार्यक्रम की शुरूआत की, तब दर्शकों में भक्ति की लहर दौर गई। सभी लोग उनके साथ झूमने लगे। इसके बाद सुपर स्‍टार खेसारीलाल यादव ने ‘केलवा के पात पर… और उग हे सूरज देवो…..’ से छठी मईया की भक्ति का बेजोर समां बांध दिया। तो निरहुआ ने भी बहंगी ‘लचकत जायेगा… के जरिये एक भव्‍य प्रस्‍तुति दी। वहीं, छठ के घाट पर काजल राघवनी और आम्रपाली दुबे ने सूप उठाकर पूरे माहौल को जीवंत बना दिया।

कार्यक्रम का आयोजन बिहार, झारखंड और पूर्वांचल का क्षेत्रीय चैनल बिग गंगा ने किया था, जिसके प्रोग्रामिंग हेड राजीव मिश्रा ने बताया कि बिग गंगा हर साल की तरह इस साल भी छठी माई के समर्पित एक कार्यक्रम ‘जय छठी माई’ लेकर उपसिथत है। आज इसका लाइव प्रस्‍तुति हुई। वहीं, आगामी 26 अक्‍टूबर की शाम 04:00 बजे से भक्‍त जन बिग गंगा पर ‘जय छठी माई’ का प्रसारण किया जायेगा। और एक बार फिर से दर्शकों को छठी माई की भक्ति में सराबोर होना का मौका मिला।

दिनेशलाल यादव निरहुआ ने ब‍ताया कि महापर्व छठ बिहार, झारखंड और पूर्वांचल की संस्‍कृति का एक अहम हिस्‍सा है। यह एकमात्र ऐसा पर्व है, जिसमें उगते हुए और डूबते हुए सूर्य को अर्घ के रूप में हम पूजते हैं। वहीं, खेसारीलाल ने कहा कि यह लोक आस्‍था का पर्व है और इसके लिए व्रतियों को काफी साधना करनी पड़ती है। लोग इसमें विशेष सतर्कता बरतते हैं, ताकि छठी माई की पूजा में कोई कसर बांकी न रह जाये। नहाय खाय के साथ शुरू होने वाला य‍ह तयौहार हमारे दिल में बसता है। संवाददाता सम्‍मेलन में काजल राघवानी और आम्रपाली दुबे ने भी छठ पर्व के महत्‍व के बारे में चर्चा की और उन्‍होंने इस पर्व के प्रति आस्‍था प्रकट की।

TAG
छठी मईया, छठी माई, Chhath puja, chhath pooja 2017, छठ पूजा

Patna in the devotion of Chhathi mai.

एह पोस्ट पऽ रउरा टिप्पणी के इंतजार बा।

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 − eleven =