आर.एन.एस कल्चरल फेस्टिवल 2013

0
96

मुम्बई के जुहू स्थित रमणलाल नागिनदास शाह हाइ स्कूल मे संस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसका उद्घाटन स्कूल की आचार्य श्रीमती पूजा प्रवीण कपूर ने दीप प्रज्वलित करके किया। इस अवसर पर उन्होने बताया की ”छात्रो मे संस्कृति को बढ़ाने के लिये यह त्योहार मनाया गया। हमे छात्रो के माता पिता से यह जानने को मिला था की विध्यार्थि पास्चात्या संस्कृति का बहुत अनुकरण कर रहे है।इसीलिये विध्यार्थियो को वर्गखण्ड मे बेठा कर किताबी ज्ञान देने से बेहतर है,की उन्हे व्यवहारिक ज्ञान दिया जाये। हमने तय की है की पहली बार आर.एन.एस कल्चरल फेस्टिवल २०१३ के लिये गुजरात के संस्कृति को चुना गया। विध्यार्थियो को गुजरात की संस्कृति से परिचय करवाया गया जो बच्चे कभी गाओं मे कभी नहीं गये उन्हे गाओं का माहोल दिया गया ताकि उन्हे पताचले की गाओं के लोग केसे जीते है क्या पहनते है क्या खाते है केसे रहते है। इस त्योहार के दौरान उन्हे गुजराती परम्परागत पोशाक पहनाया गया। यह पोशाक पेहनाने के पीछे हमारा मकसत था की छात्रो मे संस्कृति को लेकर लगाव हो। इस त्योहार मे हम पोर्ट मेकिंग, क्ले आर्ट, बैलगाड़ी जैसे विभिन्न कला से उन्हे परिचित करवाया। बैलगाड़ी परिचय मे आने से छात्रो मे प्राणियो को लेकर प्रेम बढ़ा और यह एक बढिया प्रयास था। युवाओ को नृत्य बहुत प्रिय होता है इसी लिये वह डिस्को, पार्टीस मे जाया करते है। गुजराती डांडिया भी एक प्रकार का नृत्य है जो उन्हे यहा सिखाया गया। इस तरह से वह हमारी संस्कृति को समझे और आनंद भी उठाये। हमारी संस्कृति समृध है,हम इस उद्देश्य को प्राप्त करने की कोशिश कर रहे हैं।वहा उपस्थित बच्चो के अभिभावको ने भी बहुत आनंद उठाया और बच्चो द्वारा पेश किये गये कार्यक्रमो पर खूब हसे और तालिया बजाई। इस अवसर पर सिक्षिका आयेशा पावस्कर,श्रेया विष्णु रेंगे,मल्लिका रावल और अशोक महेता, ज्योति शर्मा, गौरी विश्वकर्मा, संजय भूषण पटियाला, मंटू लाल इत्यादि लोग उपस्थित थे।

आर.एन.एस कल्चरल फेस्टिवल 2013

एह पोस्ट पऽ रउरा टिप्पणी के इंतजार बा।

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen − 3 =