Tags आदित्य प्रकाश अनोखा

Tag: आदित्य प्रकाश अनोखा

हम बुझिले

हम देखिले हम सुनीले हम बुझिले हम समझिले, आपन गउँआ, आपन नगरिया लोगवा काहे छोड़$ता, सहर से नाता जोड़त जोड़त अंगना काहे भोरऽता। हम सहिले हम भोगीले हम जीहिले हम मरीले, समय बेचके पइसा खातिर् घर छोड़के...

जोगीरा के साथ जुड़ी

1,163FansLike
9FollowersFollow
243FollowersFollow

टटका अपडेट