Home Tags कहनी गढ़त मनई

Tag: कहनी गढ़त मनई

कहनी गढ़त मनई

कहनी गढ़त मनई छरका से सार ले दुआर घूरे तक बहारत, झंखत जिनगी में लागल उढुक से उठ के संभरे में ढमिलात हिरिस से मातल मनई | गुरखुल के दरद बंहटियावत नादी में...