Tags वाह! रे चिरईयाँ

Tag: वाह! रे चिरईयाँ

वाह! रे चिरईयाँ

वाह! रे चिरईयाँ तोहर,कईन नसीब बा?। उडी चली जाए उहवे,जहवासे प्रित बा।।....१ रोजे रोजे खोता बदले,रोजे रोजे ठाव हो।। राखे जमिनियाँ पर, कभी कभार पाव हो। बनावे ठेगाना...

जोगीरा के साथ जुड़ी

1,158FansLike
9FollowersFollow
243FollowersFollow

टटका अपडेट