Home Tags वाह! रे चिरईयाँ

Tag: वाह! रे चिरईयाँ

वाह! रे चिरईयाँ

वाह! रे चिरईयाँ तोहर,कईन नसीब बा?। उडी चली जाए उहवे,जहवासे प्रित बा।।....१ रोजे रोजे खोता बदले,रोजे रोजे ठाव हो।। राखे जमिनियाँ पर, कभी कभार पाव हो। बनावे ठेगाना...