Home Tags संतोष पटेल

Tag: संतोष पटेल

भोजपुरी भाषा के आदि कवि: कबीर

नवीन जागरण युग के अगुआ के रूप में हिंदी साहित्य में स्थापित “कबीर” आजू जनता के हृदय में व्यक्ति के रूप ना बलुक प्रतीक...

बहुमुखी प्रतिभा के धनी: एंथोनी दीपक

पर्वतराज हिमालय के गोद में बसी हुयी चंपारण की धरती सौन्दर्य वैभव से परिपूर्ण और स्वर्ग से भी सुन्दर कही गयी है। चंपारण की...

भोजपुरी लोक संस्कृति

भोजपुरी लोक संस्कृति का क्षेत्र विस्तृत है – बिहार में सारन (छपरा), सीवान, गोपालगंज , भोजपुर (आरा), रोहतास (सासाराम), पूर्वी चंपारण (मोतिहारी), पश्चिम चंपारण...

सरकार की अस्पष्ट भाषा नीति भारतीय भाषाओँ के विकास में बाधक

भारत में भूमंडलीकरण का प्रभाव जहाँ उद्योग, शिखा, कृषि के साथ साथ हमारी भारतीय भाषाओँ पर स्पष्ट दिखने लगा हैं। 1990 से भारत में...

का लाल : भोजपुरी कविता

नागार्जुन के मैथिली कविता की लाल? की लाल? के भोजपुरी अनुवाद का लाल? का लाल? अड़हूल के फुल लाल ! आरती के पात लाल ! तिरकोल के फल...

भोजपुरी काव्य गोष्ठी

राजघाट पर गीता कुरान लेके जे किरिया खाई उहे लोग सत्ता पाई, उहे लोग सता पाई ! "राजघाट पर" भोजपुरी कविता के इ पंक्ति भोजपुरी...

भोजपुरी लोक संस्कृति: संतोष पटेल

भोजपुरी लोक संस्कृति का क्षेत्र विस्तृत है – बिहार में सारन (छपरा), सीवान, गोपालगंज , भोजपुर (आरा), रोहतास (सासाराम), पूर्वी चंपारण (मोतिहारी), पश्चिम चंपारण...

भोजपुरी ग़ज़ल: जमाना के आंधी

भोजपुरी के श्लाकापुरुष पाण्डेय कपिल जी के एगो ग़ज़ल 1977 ई में आईल रहे - जमाना के आंधी केतना प्रासंगिक बा रउरो देखीं ---- जेने देखि...

भोजपुरी लघुकथा “पोसपूत”

लाल बाज़ार के बड़का कूड़ाघर के लगे मेहरारुन के भीड़ लागल रहे, कूड़ा में फेंकल एगो जियत बच्चा के देखे ला. जवन रोअत रहे....

पकडुआ बिआह

"राजा तोहरा रास्ता से हट जाएब, गाडी के निचे जा के कट जाएब "- चिठ्ठी के पहिले लाइन में इहे लिखल रहे. संजय चिठ्ठी...

जोगीरा के साथ जुड़ी

1,252FansLike
7FollowersFollow
273FollowersFollow

टटका अपडेट