गोरिया चाँद के अंजोरिया नियन गोर बारू हो

गोरिया चाँद के अंजोरिया नियन गोर बारू हो
तोहार जोर केहू नईखे बेजोर बारू हो…
तोहार ओठ चटकर बा गुलाबी नियन
गाल उगल बा नैना शराबी नियन
गोरी रस्वा भरल पोरे पोर बारू हो

तोहार जोर केहू नइखे बेजोड़ बारू हो…
दिल पे बिजली गिरेला जब तकेलु तू
गोरी हंसी के खिरकिया से झाकेलु तू
तू त गमकत बसंती झकझोर बारू हो
तोहार जोर केहू नइखे बेजोड़ बारू हो
एह गली तोहरे खातिर त आयीले हम
तोहरे खातिर त जिनगी गवाईला हम
गोरी चंचल चकोरी चितचोर बारू हो
तोहार जोर केहू नइखे बेजोड़ बारू हो
चाल बिगरल बा सावन के कहात नइखे
बिना तोहरा के एको पल रहात नइखे
भरत मंजूल के नेहिया के डोर बारू हो

तोहार जोर केहू नइखे बेजोड़ बारू हो…
गोरिया चाँद के अंजोरिया नियन गोर बारू हो
तोहार जोर केहू नईखे बेजोर बारू हो…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × 1 =