अबर घोड़ी के साँझे पेयान

जदी घोड़ी कमजोर होखे त निर्धारित समय से पहिले जतरा सुरु करे के परेला, काहें कि ओकरा धीमा चाल पर कवनो भरोसा ना रहेला कि निद्रिष्ट जगह पर समय से पहुँची की ना।

दूबर पछवाला आदमी अपना पछ में समय से पाहिले जोगाड़ कके अपना सुरक्षा के तइयारी करे लागेला।

अबर विद्यार्थी सांझे से पढ़े बइठ जाला।

रउवा खातिर:
भोजपुरी मुहावरा आउर कहाउत
देहाती गारी आ ओरहन
भोजपुरी शब्द के उल्टा अर्थ वाला शब्द
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : पहिलका दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : दुसरका दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : तिसरका दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : चउथा दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : पांचवा दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : छठवा दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : सातवा दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : आठवाँ दिन

Leave a Reply