शारदानन्द प्रसाद जी के लिखल भोजपुरी किताब खेल खेलाड़ी आ ओकर बोल

भोजपुरी किताब खेल खेलाड़ी आ ओकर बोल के लेखक शारदानन्द प्रसाद के ओर से

भोजपुरी बिहार आ उत्तर प्रदेश के सम्मिलित क्षेत्र ह, जहवां भोजपुरी प्रधान रूप से बोलल जाला। एह क्षेत्र में छपरा, सीवान, गोपालगंज, आरा, चम्पारण, बलिया, बनारस, गाजीपुर आ जौनपुर जिलन के सामिल कइल जा सकेला। एह क्षेत्र के बाल मण्डली में अनेक अइसन खेल परचलित बा जे मनोरंजन के साथ-साथ भासा के एक सूत से सबके बान्हे ला।

शारदानन्द प्रसाद जी के लिखल भोजपुरी किताब खेल खेलाड़ी आ ओकर बोल
शारदानन्द प्रसाद जी के लिखल भोजपुरी किताब खेल खेलाड़ी आ ओकर बोल

ई खेल लइकाई से लेके किशोरावस्था तक खेलल जाला। एह खेलन में लइका लइकी दुनो, भाग लेला। बहुत खेलन में त माई-बाप भी साथ देला। लाइका लोग खेल बाड़ा पसन्न करेला। डेहुरी से बाहर होते-होते एह लोग के बाग ना आड़ाला। खेल के साथे-साथे ई लोग खेल के बोल भी बोलेला। जवना से खेल में चार चान आग जाला आ देखनिहार के धरनिहार लागेला। सुरु-सुरु में लाइक लोग खेले के हालत में ना रहेला। तेपर ई लोग आपन हाथ गोड़ पटक पटक के एकर कमी पूरा कर लेला। ए अवस्था में मतारी एह लोग के खेल के ओर आकर्षित करेला। ई अवस्था छव महीना से लेके साल भर रहेला। सालभर के हो गइला पर ई लोग अपने से भी खेले के कोसिस करेला। एह भोजपुरी किताब खेल खेलाड़ी आ ओकर बोल में ओही खेल के बरनन होई जेके छव महीना से लेके चउदह बरिस के लइका, लइकी खेलेलन।

शारदानन्द प्रसाद जी के लिखल भोजपुरी किताब डाउनलोड करे के खातिर क्लिक करीं

रउवा खातिर  
भोजपुरी मुहावरा आउर कहाउत
देहाती गारी आ ओरहन
भोजपुरी शब्द के उल्टा अर्थ वाला शब्द
जानवर के नाम भोजपुरी में
भोजपुरी में चिरई चुरुंग के नाम

इहो पढ़ीं
भोजपुरी गीतों के प्रकार
भोजपुरी पर्यायवाची शब्द – भाग १
भोजपुरी पहेली | बुझउवल
भोजपुरी मुहावरा और अर्थ
अनेक शब्द खातिर एक शब्द : भाग १
लइकाई के खेल ओका – बोका
भोजपुरी व्याकरण : भाग १
सोहर

ध्यान दीं: भोजपुरी फिल्म न्यूज़ ( Bhojpuri Film News ), भोजपुरी कथा कहानी, कविता आ साहित्य पढ़े  जोगीरा के फेसबुक पेज के लाइक करीं।

Leave a Reply