भोजपुरी शब्दकोश : Bhojpuri Dictionary

जोगीरा डॉट कॉम (www.jogira.com) के कोशिश बा की रउवा लोगन के भोजपुरी के प्रती लगाव बढ़ावल जाव वोही मकसद से जोगीरा डॉट कॉम पर भोजपुरी शब्दकोश पेज बनावल गईल बा, भोजपुरी के शब्द के जानकारी बढ़े आ जे भोजपुरी नइखे जानत भा जाने के इच्छा रखत बा त वो लोग ख़ातिर भी इ पेज बहुत उपयोगी बा।

जोगीरा डॉट कॉम के लगातार कोशिश कर रहल बा कि भोजपुरी के गौरवशाली अतीत के फेर से परिभाषित कऽ के, भोजपुरी के छवि के आपन देस के साथे-साथ दुनिया के बाकी हिस्सा में भी पुनर्जीवित कईल जाव। ई काम में रउरा सब के सहयोग के साथ जरुरी बा, एह से रउरा सभे से निहोरा बा की “जोगीरा डॉट कॉम” से जुड़ी आ आपन भासा भोजपुरी के आगे बढ़ावे में टीम जोगीरा के मदद करीं।

जरूर पढ़ीं: भोजपुरी सीखे : Learn Bhojpuri

अगर रउवो लगे भोजपुरी शब्दन के संग्रह बा त जोगीरा डॉट कॉम के भेज दीं, राउर शब्द भोजपुरी शब्दकोश : Bhojpuri Dictionary पर जोड़ दीहल जाई।

भोजपुरी शब्दकोश : Bhojpuri Dictionary

| | | | | | | | | | | | | | | | | | | | | | | | | | | | | | | | | |
Reset list
छउकल -  कूदना, उछलना
छउड़ी -  लड़की, बेटी
छछनल -  किसी चीज को पाने के लिए व्याकुल होना
छटकल -  छिटकना
छतर -  सांप का फण
छरकल -  उछलना, कूदना
छरदवाली -  चहारदीवारी
छरहर -  छरहरा, हल्के और पतले बदन या शरीर वाला
छरिआइल -  बच्चों किसी वस्तु को पाने के लिए जिद करना या रोना
छहलल -  फिसलना
छागल -  पायल
छाल -  छिलका, चमड़ा
छाल्ही -  दूध-दही के ऊपर जमने वाला मलाई
छितराना -  बिखराना
छिलकोइया -  छिलका
छिहुलल -  फिसलना
छीटल -  बिखेरना, फैलाना
छीनल -  छीनना
छुअल -  स्पर्श करना, छूना
छुआइल -  छू जाना, स्पर्श होना
छुटल -  छोड़ देना, छूट जाना
छुरी -  चाकू
छूँछ -  खाली
छेकना -  रोकना
छेद -  बिल, छिद्र
छेदा -  बिल, छिद्र
छेरल -  पतला दस्त करना
छेवकल -  तड़का लगाना
छोकड़ा -  लड़का
छोडावल -  छुड़ाना
छोलनी -  करछी
छोड़ल -  छोड़ा हुआ, छोड़ना

रउवा खातिर:
भोजपुरी मुहावरा आउर कहाउत
देहाती गारी आ ओरहन
भोजपुरी शब्द के उल्टा अर्थ वाला शब्द
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : पहिलका दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : दुसरका दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : तिसरका दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : चउथा दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : पांचवा दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : छठवा दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : सातवा दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : आठवाँ दिन

ध्यान दीं: भोजपुरी कथा कहानी, कविता आ साहित्य पढ़े खातिर जोगीरा के फेसबुक पेज के लाइक करीं