भोजपुरी के संवैधानिक मान्यता के लिए धरना प्रदर्शन 8 दिसम्बर को

भोजपुरी के संवैधानिक मान्यता और आठवीं अनुसूची में शामिल कराने के लिए “भोजपुरी जन जागरण अभियान” के तत्वावधान में राष्ट्र स्तर पर चलाया जा रहा भोजपुरी भाषा मान्यता आंदोलन के तहत आगामी 8 दिसम्बर,2019 दिन रविवार को विशाल धरना प्रदर्शन का आयोजन अभियान के राष्ट्रीय अध्यक्ष संतोष पटेल के नेतृत्व में दिल्ली के जंतर मंतर पर किया जायेगा।

बताते चलें कि भोजपुरी भाषा मान्यता आंदोलन “भोजपुरी जन जागरण अभियान” देश भर मे भोजपुरी को संविधान में शामिल कराने हेतु लगातार संघर्षरत है तथा साहित्य एवं संस्कृति को सहेजने का काम भी कर रहा है। इससे पहले “भोजपुरी जन जागरण अभियान” द्वारा प्रत्येक संसदीय सत्र के दौरान धरना प्रदर्शन किया जा चुका है और लगातार ज्ञापन और माँग पत्र प्रधानमंत्री,गृहमंत्री और अन्य मंत्री,सांसद लोगों को दिया जा रहा है ।कुछ सांसद और मंत्री समर्थन में आगे भी आये थे परन्तु सरकार अपनी मनसा स्पष्ट नहीं कर पाई ।भोजपुरी आठवीं अनुसूची में होगी बार-बार संसदीय सत्र में आश्वासन दिया गया और अगला तारीख तय कर दिया गया कि बस बस अब अगले संसद सत्र में भोजपुरी आठवीं अनुसूची में होगी।
भोजपुरी जन जागरण अभियान का यह बारहवाँ धरना संसद के शीतकालीन सत्र में बुलाया जा रहा है,इसी को लेकर जोरदार तैयारी की जा रही है।

भोजपुरी जन जागरण अभियान के राष्ट्रीय संयोजक राजेश भोजपुरिया(जमशेदपुर) ने भोजपुरी के सेवा में लगे सभी संस्था, भोजपुरी प्रेमी, साहित्यकार, पत्रकार, समाजसेवी,गायक कलाकार, रंगकर्मी, राजनेता,भोजपुरी से जुड़े सभी लोगों से इस धरना प्रदर्शन में शामिल होकर भोजपुरी भाषा के आवाज को बुलंद करने के लिए अपील किया हैं।

इस धरना में बिहार,उत्तरप्रदेश, चम्पारण,मध्यप्रदेश,झारखंड,छतीसगढ़ के अलावा मुम्बई,कोलकाता, असम और देश के कई भोजपुरी क्षेत्र से भोजपुरी भाषा भाषी व प्रतिनिधि शामिल होंगे। भोजपुरी भाषा के सम्मान और अपने हक के लिये भोजपुरी भाषा भाषियों का जुटान होगा।

जोगीरा डॉट कॉम पऽ भोजपुरी पाठक सब खातिर उपलब्ध सामग्री

ध्यान दीं: भोजपुरी फिल्म न्यूज़ ( Bhojpuri Film News ), भोजपुरी कथा कहानी, कविता आ साहित्य पढ़े  जोगीरा के फेसबुक पेज के लाइक करीं।

Leave a Reply