भोजपुरी लोरिकी : श्याम मनोहर पांडेय

भोजपुरी लोरिकी लोक महाकाव्यों की परम्परा में प्रकाशित मेरी स्तकों की शृखला में यह चौथी कड़ी है। इसमें संवरू का विवाह प्रस्तुत किया गया है। इसके गायक बलिया जिले के शिवनाथ चौधरी (सीनाथ चौधरी) थे। उनका गाया हुआ यह पाठ मेरे संग्रह के पाठों में सबसे बड़ा है। इस पाठ की कुल रिकार्डिन लगभग 48 घण्टे की है । इसमें संवरू का विवाह अपने आप में पूर्ण है। तथ्य यह है कि कोई गायक एक बार में पूर्ण कथा नहीं गाता । श्रोताओं के आग्रह पर एक या दो प्रसंग चुनता है और जितना उसके पास समय होता है उसी के अन्तर्गत वह समाप्त कर लेता है।

भोजपुरी लोरिकी : श्याम मनोहर पांडेय
भोजपुरी लोरिकी : श्याम मनोहर पांडेय

जीवन में पहली बार सीनाथ चौधर। ने लोरिको प्रारम्भ से अन्त तक मेरे लिए गायी । अन्य गायकों ने ऐसा ही किया । ‘संवरू का विवाह’ के बाद ‘लोरिक का विवाह’, ‘चनवा का उढ़ार’, ‘हरदी की लड़ाई’, ‘पीपरी का युद्ध’ ये प्रसंग गायक गाता है । ‘भोजपुरी लोरिकी’ की दूसरी जिल्द मे ये प्रसंग प्रकाशित होंगे । आशा है प्रस्तुत पाठ का भी सुधी पाठक लोरिकी या चनैनी के अन्य पाठों की भाँति स्वागत करेंगे। -श्याम मनोहर पांडेय

श्याम मनोहर पांडेय द्वारा रचीत भोजपुरी किताब भोजपुरी लोरिकी डाउनलोड करे खातिर नीचे दिहल लिंक प क्लिक करीं।

भोजपुरी किताब डाउनलोड करे खातिर क्लिक करीं

रउवा खातिर  
भोजपुरी मुहावरा आउर कहाउत
देहाती गारी आ ओरहन
भोजपुरी शब्द के उल्टा अर्थ वाला शब्द
जानवर के नाम भोजपुरी में
भोजपुरी में चिरई चुरुंग के नाम

इहो पढ़ीं
भोजपुरी गीतों के प्रकार
भोजपुरी पर्यायवाची शब्द – भाग १
भोजपुरी पहेली | बुझउवल
भोजपुरी मुहावरा और अर्थ
अनेक शब्द खातिर एक शब्द : भाग १
लइकाई के खेल ओका – बोका
भोजपुरी व्याकरण : भाग १
सोहर

ध्यान दीं: भोजपुरी फिल्म न्यूज़ ( Bhojpuri Film News ), भोजपुरी कथा कहानी, कविता आ साहित्य पढ़े  जोगीरा के फेसबुक पेज के लाइक करीं।

Leave a Reply