चंदन तिवारी को मिला भोजपुरी कोकिला सम्मान

चंदन तिवारी को मिला भोजपुरी कोकिला सम्मान, बंगाल के प्रतिष्ठित भोजपुरी संगठन पश्चिम बंग भोजपुरी परिषद ने दिया सम्मान, भोजपुरी लोकसंगीत को स्त्रीविरोधी छवि से मुक्त कराने में प्रयास व योगदान के लिए मिला सम्मान।

संगीत नाटक से सम्मानित प्रसिद्ध युवा लोकगायिका चंदन तिवारी को भोजपुरी कोकिला सम्मान से सम्मानित किया गया। यह सम्मान पश्चिम बंग भोजपुरी परिषद की ओर से कोलकाता में एक समारोह आयोजित कर दिया गया। पश्चिम बंग भोजपुरी परिषद बंगाल में भोजपुरी भाषियों का प्रतिष्ठित और चर्चित संगठन है जो पिछले करीब पांच दशक से सरोकार के साथ सक्रिय है। इस संस्था द्वारा भोजपुरी की चर्चित पत्रिका भोजपुरी माटी का प्रकाशन होता रहा है।

सुश्री चन्दन तिवारी को यह सम्मान निरन्तर अपने उद्यम और लगन से भोजपुरी लोकगीतों को स्त्रीविरोधी छवि से मुक्त कराने के लिए किए गए प्रयास और उसमें योगदान के लिए प्रदान किया गया है। सुश्री चन्दन को यह सम्मान कोलकाता के महाजाति सदन में एक भव्य समारोह आयोजित कर बंगाल पुलिस के महानिदेशक मृत्युंजय सिंह, भोजपुरी के विद्वान लेखक अनिल ओझा निरद, परिषद के जेपी सिंह और सभाजीत मिश्र द्वारा प्रदान किया गया। सम्मान मिलने के बाद चन्दन ने कहा कि यह भरोसे का सम्मान है और मैं कोशिश करूँगी की ऐसे सम्मान के मान मर्यादा की रक्षा आजीवन करुं।

यहां बताते चले कि अभी हाल ही में चन्दन तिवारी को दो प्रतिष्ठित सम्मान मिला था। भारत सरकार के संगीत नाटक अकादमी द्वारा बिस्मिल्लाह खान युवा पुरस्कार दिया गया था। उसके पहले बीएजी फिल्म्स के द्वारा श्रेष्ठ पारम्परिक लोकगायिका का सम्मान चन्दन तिवारी को मिला था।

जोगीरा डॉट कॉम पऽ भोजपुरी पाठक सब खातिर उपलब्ध सामग्री

ध्यान दीं: भोजपुरी फिल्म न्यूज़ ( Bhojpuri Film News ), भोजपुरी कथा कहानी, कविता आ साहित्य पढ़े  जोगीरा के फेसबुक पेज के लाइक करीं।

Leave a Reply