जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव सन 2002 से नियमित रूप से आजतक जयंती मनाते आ रहे हैं। बिहार प्रांत के छपरा जिलान्तर्गत गांव कुतुबपुर जो भिखारी धाम से प्रचलित है। इस वर्ष 18 दिसम्बर 2018 को जनकवि भिखारी ठाकुर की जन्म स्थली ग्राम- कुतुबपुर (भिखारी धाम) में 131वीं जयंती महोत्सव धुमधाम से मनाया गया।

जिसमें उनकी रचनाओं के साथ-साथ साहितिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम, स्वच्छ भोजपुरिया समाज को भिखारी ठाकुर सम्मान 2018 से सम्मानित किया गया। सम्मानित अतिथि भोजपुरिया समाज द्वारा सांस्कृतिक मंच का विधिवत दीप प्रज्वलित, महोत्सव के अध्यक्ष श्री ललन राय सचिव श्री कृष्णा कुमार वैष्णवी संयोजक श्री विनय राय (मास्टर साहेब) एवं दियरा क्षेत्र के प्रतिष्ठित बुजुर्गो के उपस्थिति में उद्घागन किया गया तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रारम्भ किया गया।

अध्यक्ष श्री ललन राय एवं सचिव श्री कृष्णा कुमार वैष्णवी के द्वारा सभी आमंत्रित भोजपुरिया कलाकार श्री विवेक दीप पाठक भोजपुरी जागरूकता अभियान के तहत आरा से दिल्ली तक के पद यात्री, श्री चन्दन कुमार सिंह जोगिरा डॉट काॅम के सम्पादक, श्री आलोक कुमार चैबे भोजपुरी अस्लीलता के आंदोलनकारी विरोधी, श्री शैलेन्द्र मिश्रा भोजपुरी लोक गायक बलिया यू.पी., श्री राजीव राज लोक गायक बलिया यू.पी., श्री विवेक कुमार सिंह भोजपुरी साहित्य लेखक पंजुआर सिवान, सुश्री आद्याशक्ति भोजपुरी की लोक गायिका बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ में अहम भूमिका निभाने वाली पटना दूरदर्शन एवं महुआ चाइनल की लोक चर्चित गायिका सुश्री रंजना पाण्डेय परम्परागत भोजपुरी लोक गायिका छपरा, बाॅलीवुड एक्ट्रेस सुश्री वैष्णवी भोजपुरीया बेटी श्री विजय सोनी भोजपुरी लोक गायक पटना तथा श्री मंगलमूर्ती ब्राजील म्यूजिशियन एवं आरा से भोजपुरिया सेना के महामंत्री श्री अनिल सिंह, भोजपुरिया गायक श्री नन्द जी प्रसाद पत्रकार श्री कमलेश कुमार पाण्डेय, श्री कुमार अजय, श्री अजीत सिंह आदि को जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 2018 का मोमेन्टो और पगड़ी एवं मालार्पण कर सम्मानित किया गया।

छपरा जिलान्तर्गत भिखारी ठाकुर जन्मस्थली कुतुबपुर के सम्पूर्ण दियरा क्षेत्र एवं गंगा के इस पार एवं उस पार के क्षेत्रों में जयंती के नामोनिशान नहीं था। उस समय के पूर्व वित्त मंत्री आदरणीय डाॅ0 प्रभुनाथ सिंह के प्रेरणा से विश्व भोजपुरी के बैनर तले इस संस्था का नामकरण जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव का उदय हुआ। उस समय से डाॅ0 प्रभुनाथ सिंह ने सर्वसम्मति से इस संस्था के अध्यक्ष श्री ललन राय समाजसेवी ग्राम कुतुबपुर को मनोनित किया। तब से लेकर आज तक श्री ललन राय अध्यक्ष हैं तथा उन्हीं के अध्यक्षता देख रेख में महोत्सव का आयोजन होते आ रहा है।

पहले के दिनो में जन सहयोग से आयोजन कराते आयें एवं भोजपुरी भाषा साहित्यकार कलाकार और गायक को सम्मानित करते आये हैं। अपनी पारिश्रमिक के रूप में श्री ठाकुर जी के नाम पर एवं ललन राय के अनुरोध पर जितने भी सहयोगी कलाकार भोजपुरी भाषा के प्रचारक प्रसारक सभी संतुष्ट होते रहे थें। राजनितीक रूप से लालू प्रसाद पूर्व मुख्यमंत्री बिहार भी श्री ललन राय केक अनुरोध पर एवं श्री भिखारी ठाकुर के नाम पर श्री ठाकुर जी की जन्मस्थली में आकर महोत्सव में भाग लियें एवं छपरा शहर के सदर प्रखण्ड के पास श्री ठाकुर जी के नाम पर भिखारी चैक नाम देकर आदम कद श्री भिखारी ठाकुर जी के प्रतिमा का अनावरण किया।

यहाँ तक की राजधानी में भी सचिवालय के पास यारपुर ओभरफ्लाई ब्रिज का श्री भिखारी ठाकुर के नाम पर नामकरण कर भोजपुरी के शेक्सपीयर श्री भिखारी ठाकुर को सम्मानित करने का काम किया। इसी बीच बिहार सरकार के सारण जिला के कला एवं सांस्कृतिक मंत्री श्री जनार्धन सिंह सिग्रिवाल हुए। अध्यक्ष श्री ललन राय अनुनय विनय करने के बावजूद भी सरकारीकरण नहीं कियें। कुछ समय बाद श्री जीतन राम माँझी के मुख्यमंत्री बनने के पश्चात लौरिया विधायक विनय बिहारी कला एवं सांस्कृतिक विभाग के मंत्री बनाए गयें। तब मंत्री विनय बिहारी ने खुद संग्यान लेकर अपने सचिवालय कक्ष मे महोत्सव के अध्यक्ष श्री ललन राय को बुलाकर पित्र पत्र जारी कर श्री भिखारी ठाकुर एवं श्री पंडित महेन्द्र मिश्र के जयंती समारोह को सरकार एवं जन भागीदारी के सहयोग से राजकीय सम्मान के साथ मनाये जाने का स्वीकृति प्रदान कियें।

इस दिशा में इस वर्ष 2018 को छोड़कर बाकि के वर्षाें में जिला प्रशासन एवं जन सहयोग से जयंती महोत्सव मनाया गया मगर इस वर्ष 2018 के जयंती महोत्सव को जिला प्रशासन द्वारा बिना जन सहयोग एवं बैठक कराये बिना हीं अपनी मनमानी से महोत्सव मनाया गया। जिस कारण श्री भिखारी ठाकुर की जन्मस्थली कुतुबपुर में जयंती महोत्सव जिला प्रशासन एवं समिति द्वारा अलग अलग रूप से एक हीं दिन 18 दिसम्बर को दो भागों में विभक्त होकर जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 2018 मनाया गया। जबकि देश एवं प्रदेश में एक ही पार्टी एवं सहयोगी पार्टी की सरकारें हैं।

अध्यक्ष श्री ललन राय ने बताया कि देश एवं प्रदेश में स्थानों का नाम बदलने का प्रचलन धड़ल्ले स ेचल रहा है। लेकिन देश के आजाद होने के बावजूद अँग्रेजों के नाम एवं गुलामी को हम विवश हैं। भिखारी ठाकुर के जन्मस्थली कुतुबपुर से मात्र 6-7 किलोमीटर दूरी पर गोल्डेनगंज स्टेशन अँग्रज प्रशासक गोल्डेन के नाम पर है। इसे यथाशीघ्र अँग्रेजीयत के बंधन से मुक्त कराकर इस रेलवे स्टेशन का नाम भोजपुरी शेक्सपीयर भिखारी ठाकुर या भिखारी धाम पर किया जाय।

अध्यक्ष ने यह भी कहा कि केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा आरा-छपरा पुल का नाम भिखारी ठाकुर का नाम पर, राजधानी में ठाकुर जी के नाम पर रंगशाला का भी निर्माण कराना चाहिए। तब जाकर भोजपुरीया समाज का उद्यान एवं सम्मान संभव है। इस सफल कार्यक्रम के लिए दियरा वासी एवं भोजपुरीया भाषी को धन्यवाद ज्ञापन कियें संस्था के सचिव श्री कृष्ण कुमार वैष्णवी।
जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 1

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 2

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 3

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 4

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 5

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 6

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 7

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 8

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 9

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 10

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 11

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 12

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 13

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 14

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 15

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 16

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 17

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 18

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 19

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 20

जनकवि भिखारी ठाकुर लोक साहित्य एवं सांस्कृतिक महोत्सव 21

Leave a Reply