कुत्ते के तलाश में : राजकुमार पांडेय और रानी चटर्जी

0
कुत्ते के तलाश में : राजकुमार पांडेय और रानी चटर्जी
कुत्ते के तलाश में : राजकुमार पांडेय और रानी चटर्जी

भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री आपने अश्लील, डबल मीनिंग गाने और डायलॉग के लिए मशहूर तो हो चुकी है और यही कारण है कि भोजपुरी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर पानी भी नहीं मांगती और दर्शकों कि मोहताज है।

भोजपुरी इंडस्‍ट्री को बर्बादी के मुहाने पर खड़ा कर देनेवाले लोगों की मानसिकता का स्‍तर कितना नीचे गिर चुका है, यह देखना है तो सोशल मीडिया पर एकबार नजर दौड़ा कर देख लीजिये। कोई अपने साथ हो रहे अत्‍याचार का बयान करता मिलेगा तो कहीं कोई किसी पोस्‍ट पर किसी के साथ अभद्रता और गाली गलौज करते दिख जायेगा।

इस तरह का घटिया काम कोई और नहीं, बल्‍कि वो लोग करते नजर आयेंगे, जो भोजपुरी के दिग्‍गज कहे जाते हैं। अब जरा नीचे लिखे पोस्‍ट और उस पर किये गये कमेंट के स्‍क्रीनशॉट्स देखिए।

राजकुमार आर पांडेय की आई डी से और उस पर कमेंट किया गया है रानी चटर्जी क्‍वीन की आई डी से
राजकुमार आर पांडेय की आई डी से और उस पर कमेंट किया गया है रानी चटर्जी क्‍वीन की आई डी से

पोस्‍ट लिखा गया है राजकुमार आर पांडेय की आई डी से और उस पर कमेंट किया गया है रानी चटर्जी क्‍वीन की आई डी से। फिर उस पर राजकुमार पांडेय ने जो जवाब दिया है वो काफी शर्मसार कर देनेवाला है।

सबसे पहले पोस्‍ट मे बोलने का अंदाज देखिए। ऐसा लगता है कि किसी ने इनकी दुखती नब्‍ज पर हाथ रख दिया है और इनका बीपी बढ़ गया है। तभी तो इन्‍होंने पहले उसे ‘खउरहवा’ यानी खुजली वाला कुत्‍ता कहा है और फिर अपने दोस्‍तों को जवाब देने के लिए मजबूर भी किया है। यानी इन्‍होंने अपने स्‍तर पर उसे गाली दे लिया है, अब बाकी लोग भी आकर उसे गलियायें। और कई लोग गलिया भी रहे होंगे, जो राजकुमार आर पांडेय के टुकड़ों पर पलनेवाले होंगे।

पोस्‍ट किसी राजकुमार का हो और उस पर रानी जवाब ना दे तो ये तो राजकुमार की तौहीन कही जायेगी न। वैसे भी भोजपुरिया रानी का तो बहुत लंबा-चौड़ा इतिहास रहा है। अब ये तो सभी जानते हैं कि इस रानी का असली नाम कुछ और है, लेकिन ये जब तक अपने नाम के साथ रानी और उसपर भी क्‍वीन नहीं जोड़ लेती, तब तक इसे रानी वाला फील नहीं आता। जरा गौर कीजिए, जिस अंदाज में राजकुमार ने पोस्‍ट लिखा है, कमेंट भी रानी ने बिल्‍कुल उसी अंदाज में किया है।

रानी ने पूछा है कि सर वो, जो (यानी खजुवा कुत्‍ते) फेसबुक पर मिलते हैं, तो राजकुमार ने बताया है कि वो खजुवा कुत्‍ता फेसबुक वाला नहीं, बल्‍कि इंडस्‍टी का है। यानी दोनों की जुबान और दोनों का मानसिक स्‍तर यहां एक ही नजर आता है। और यदि इनकी ही भाषा में कहें तो इनका दो अलग-अलग कुत्‍तों ने अमन-चैन छीन रखा है, इसलिए दोनों ही अपना आत्‍मसंयम नहीं रख पा रहे हैं।

जोगीरा डॉट कॉम पऽ भोजपुरी पाठक सब खातिर उपलब्ध सामग्री

ध्यान दीं: भोजपुरी फिल्म न्यूज़ ( Bhojpuri Film News ), भोजपुरी कथा कहानी, कविता आ साहित्य पढ़े  जोगीरा के फेसबुक पेज के लाइक करीं।

Leave a Reply