अँगना में दू माँगना

न्यायमुक्त व्यवहार के अभाव। एक आँगन में रहे वाला आदमी केहु के एगो माँग पूरा करे आ दोसरा के दू गो पूरा करे त आइसन मलिक के बेईमान कहल जाला, जेकर व्यवहार दू रंग के होला। दू माँगना माने दू नज़र से देखल।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

thirteen + eighteen =