आखिर मंजिल मिल ही गयी ओम प्रकाश सिंह यादव को

0
322

“कला सीखी नहीं जाती, कला सिखाई नही जाती। बल्कि कुदरती देन है कला, जो कुदरत कलाकार को वरदान स्वरुप देता है।”
और शायद इसी वजह से देर से ही सही कला को मंजिल मिल ही जाती है। जी हाँ, हम बात कर रहे हैं बहुमुखी प्रतिभा के धनी बिरहा सम्राट ओम प्रकाश सिंह यादव के बारे में जिन्हें आखिर मंजिल मिल ही गयी और बन गए वो गायक से नायक। ओम प्रकाशसिंह यादव बचपन से ही बहुमुखी कला के धनी होने की वजह से गायकी में अपना लोहा मनवाने में कामयाब रहे तथा बिरहा सम्राट की उपाधि से नवाजे गए। उन्होंने अपनी अभिनय की कला को खुद के गाए हुए गीतों के वीडियो अल्बम तक ही सीमित रखा था तथा तलाश में थे एक अच्छे मौके की। वैसे उनके द्वारा अभिनीत व गाये हुए गीतों के अल्बम काफी लोकप्रिय भी रहे।

बतौर बिरहा सम्राट ओम प्रकाश सिंह यादव का कहना है कि उनकी दिली इच्छा थी एक ऐसी फिल्म में काम करूं जिसे मैं भी पूरे परिवार के साथ देख सकूँ और मेरे यादगार फिल्म साबित हो। ऐसे में मेरी मुलाकात फिल्म निर्देशक – राम यादव से हुई और उनकी निर्माणाधीन फिल्म “अहीर” में बतौर ऐक्शन हीरो काम करने का मौका मिला। मुझे उम्मीद ही नहीं पूर्ण विश्वास है कि मेरी यह फिल्म दर्शकों को खूब पसंद आएगी।

साउंड स्टेशन के बैनर तले निर्माणाधीन इस फिल्म “अहीर” में ओमप्रकाश यादव दिलेर एस पी का किरदार निभा रहे है। इस फिल्म की निर्मात्री- दीपा यादव तथा निर्देशक – राम यादव हैं। इस फिल्म की शूटिंग समाप्त हो गयी है तथा पोस्ट प्रोडक्शन कार्य शीघ्र ही शुरू होगा। फिल्म में मुख्य भूमिका में – “बिरहा सम्राट” ओमप्रकाश सिंह यादव, सिम्मी जैस, संजय दूबे एवं दिनेश राय इत्यादि है।

गौरतलब है कि निर्मात्री – रीना एस. पासी द्वारा निर्मित भोजपुरी फिल्म “बूटन” से अपना फ़िल्मी कैरियर की शुरुआत किया था। जिसके लेखक, निर्देशक व सिनेमैटोग्राफर एस. कुमार थे।

आखिर मंजिल मिल ही गयी ओम प्रकाश सिंह यादव को

एह पोस्ट पऽ रउरा टिप्पणी के इंतजार बा।

Please enter your comment!
Please enter your name here

eight − 2 =