भोजपुरी फिल्‍म निर्माण के क्षेत्र में आगे बढ़ते निर्माता प्रदीप सिंह

0
113

भोजपुरी सिनेमा इंडस्‍ट्री के इस दौर में यूं तो कई सफल निर्माताओं का नाम आता है, मगर उनमें निर्माता प्रदीप सिंह की बात ही कुछ और है। फिल्‍म निर्माण के क्षेत्र में प्रदीप सिंह की कार्यकुशलता और उनका नजरिया, उन्‍हें अन्‍य निर्माताओं से अलग करता है। उन्‍होंने माईबाप, विधाता, खूनभरी मांग, सरकार राज, इंडिया वर्सेस पाकिस्‍तान जैसी फिल्‍मों से भोजपुरी सिनेमा में एक नया ट्रेंड सेट किया। अभी उनकी एक और बेहतरीन फिल्‍म ‘मैं सेहरा बांध के आउंगा’ फ्लोर पर है, जिसका निर्देशन रजनीश मिश्रा ने किया है। इसके अलावा अभी हाल ही में उन्‍होंने धार्मिक शहर बनारस में ‘इंडिया ई कॉमर्स लिमिटेड’ के बैनर तले एक नई फिल्‍म की भी घोषणा की है, जिसमें मेगा स्‍टार रवि किशन, सुपर स्‍टार खेसारीलाल यादव और सुपर विलेन अवधेश मिश्रा नजर आयेंगे।

उत्तर प्रदेश के बांदा से आने वाले प्रदीप सिंह कहते हैं कि उन्‍हें ऐसी फिल्‍में करने में ज्‍यादा मजा आता है, जिसमें आत्‍म संतुष्टि हो। लगे कि हमने कोई अच्‍छा काम किया है। अच्‍छी फिल्‍म बनाई है। दर्शक जब सिनेमाघरों से बाहर आयें, तो उन्‍हें लगे कि उनकी मेहनत की गाढ़ी कमाई जाया नहीं हुई। वे आगे कहते हैं- ‘मेरी कोशिश होती है कि मेरी फिल्‍में भोजपुरी सिनेमा इंडस्‍ट्री का प्रतिनिधित्‍व करे।‘ प्रदीप सिंह का मानना है कि अच्‍छी फिल्‍में ही लोगों के दिलों में जगह बना पाती हैं और लंबे समय तक उनके संस्‍मरण में भी रहती है। फिल्‍म निर्माण आसान काम नहीं है।

बता दें कि प्रदीप सिंह की कंसिटेंसी की वजह से भोजपुरी सिने जगत के बड़े से बड़े कलाकार उनकी फिल्‍मों को ना नहीं कह पाते हैं। तभी तो उनकी फिल्‍मों में अब तक रवि किशन, दिनेशलाल यादव निरहुआ, पवन सिंह‍, खेसारीलाल यादव, अरविंद अकेला कल्‍लू, रीतेश पांडेय, राकेश मिश्रा जैसे अभिनेता नजर आ चुके हैं। तो भोजपुरिया क्‍वीन रानी चटर्जी, पाखी हेगड़े, रिंकू घोष, मोनालिसा, स्विटी छाबड़ा, अक्षरा सिंह, काजल राघवानी, प्रियंका पंडित, प्रतिभा पांडेय और निशा पांडेय जैसी अभिनेत्रियां भी प्रदीप सिंह की फिल्‍मों की अभिनेत्री अदाकारी करती नजर आई हैं।

वहीं, प्रदीप सिंह के बारे में खास तौर पर सुपर स्‍टार खेसारीलाल यादव कहते हैं कि वे एक ऐसे निर्माता है, जिन्‍हें इंडस्‍ट्री और दर्शकों का नब्‍ज मालूम है। वे बिजनस के साथ – साथ अच्‍छी स्क्रिप्‍ट को तवज्‍जो देते हैं, जिस वजह से उनकी फिल्‍मों का कारोबार तो अच्‍छा ही है। साथ में दर्शकों को भी उनकी फिल्‍में पसंद आती है। आज उनके साथ काम करने की इच्‍छा सभी कलाकारों को रहती है। सच कहूं तो उनका काम के प्रति समर्पण और परफेक्‍शन ही उन्‍हें अन्‍य निर्माताओं से अलग बनाता है।

एह पोस्ट पऽ रउरा टिप्पणी के इंतजार बा।

Please enter your comment!
Please enter your name here

11 + six =