आरक्षण पर सागर सहाय की फिल्म ‘मंडल’

0
128

देश में जब जातिगत आधार पर राजनीति अपने चरम पर है तब निर्देशक सागर सहाय अपनी फीचर फिल्म ‘मंडल’ लेकर आ रहे हैं. जैसा कि नाम से ही जाहिर है कि, ‘मंडल’ भारत में जाति आधारित आरक्षण की विवादास्पद नीति पर एक सामाजिक-राजनीतिक फ़िल्म है.

लेकिन फिल्म के निर्देशक सागर सहाय का कहना है कि फिल्म ‘मंडल’ के जरिए वे आरक्षण को लेकर किसी विवाद को जन्म नहीं देना चाहते, बल्कि ठीक इसके उलट फिल्म की कहानी सकारात्मक और वर्तमान समय में भारत की एक वास्तविक आवश्यकता को दर्शाती है.

दिल्ली के सिरीफोर्ट ऑडिटोरियम में 15 जनवरी को हुए एक शानदार समारोह में ‘मंडल’ का ‘पोस्टर’ और फिल्म के एक गीत का ऑडियो भी लॉन्च किया गया. समारोह में विवादास्पद फिल्म ‘पीके’ में ‘धर्मगुरु’ का किरदार निभाने वाले राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता अभिनेता सौरभ शुक्ला मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद थे. उनके अलावा निखिल कामथ (मंडल के संगीत निर्देशक), संदीप मारवाह (नोएडा फिल्म सिटी के संस्थापक), अरविन्द गौड़ (अस्मिता थिएटर ग्रुप के निदेशक, दिल्ली), सत्यनारायणन आर (संस्थापक और कैरियर लांचर के अध्यक्ष) और अतुल श्रीवास्तव (अभिनेता) ने भी समारोह में शिरकत की.

मंडल, सागर सहाय द्वारा लिखित और निर्देशित, और राम सुमेर व राजीव रोशन के द्वारा निर्मित की जा रही है। कलाकारों के बारे में अधिक जानकारी फरवरी के पहले सप्ताह में जारी किए जाने की उम्मीद है और फिल्म की शूटिंग अप्रैल के महीने से शुरू हो जाएगी. मंडल फिल्म की वेबसाइट (www.mandalthefilm.com) अगले कुछ दिनों में लॉन्च कर दी जाएगी.

फिल्म् ‘मंडल’ के पोस्टर रिलीज समारोह के दौरान तीस मिनट की अवधि की लघु फिल्म ‘372,111’ की स्क्रीनिंग भी की गयी जिसमें दस रूपये के एक नोट की कहानी है जिसके कारण सब एक बहुत खतरनाक चक्रव्यूह में फँस जाते है. एक्शन और रोमांच से भरपूर इस लघु फिल्म फिल्म में खतरनाक माफिया किंग सुलेमान चाचा का रोल रमन कपूर ने किया है जो पहली बार अभिनय करने के बावजूद रोल में खूब जंचे हैं. इस लघुफिल्म का निर्देशन सागर सहाय ने ही किया है और इसके निर्माता रमन कपूर व रौशनी बिश्नोई हैं. फिल्म को ऑनलाइन www.10rupees.in पर जाकर देखा जा सकता है.

SHARE
Previous articleभोजपुरी गजल
Next articleनइहर छूटलऽ जात रे
जोगीरा डॉट कॉम भोजपुरी के ऑनलाइन सबसे मजबूत टेहा में से एगो टेहा बा, एह पऽ भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री के टटका ख़बर, भोजपुरी कथा कहानी, भोजपुरी किताब, भोजपुरी साहित्य आ भोजपुरी से जुड़ल समग्री उपलब्ध बा।

एह पोस्ट पऽ रउरा टिप्पणी के इंतजार बा।

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × 3 =