भोजपुरी के बढ़िया वीडियो देखे खातिर आ हमनी के चैनल सब्सक्राइब करे खातिर क्लिक करीं।

बटोहिया का गाना सुन्दर सुभूमि भइया भारत के देशवा बाबु रघुबीर नारायण ने १९११ में लिखा था। बाबु रघुबीर नारायण सारण के दहियावां के रहने वाले थे, वो भारतीय सवंत्रता संग्राम के सेनानी भी थे और वो बढ़ चढ़ के आगे रहते थे। बटोहिया से पहले रघुबीर बाबु इंग्लिश भाषा के लेखक थे लेकिन भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद के आग्रह पर उन्होंने बटोहिया को भोजपुरी में लिखा। इस गीत में भारत को धरती का स्वर्ग कहा गया है, बटोहिया गीत सुन्दर सुभूमि भैया भारत के देशवा को पूर्वी भारत का राष्ट्रगान कहा गया। यहाँ तक की राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी ने जब इस गीत का पाठ रघुबीर नारायण से सुना तो उन्होंने इसे वन्दे मातरम की श्रेणी में रखा और कहा की ये गाना भोजपुरी भाषियों के लिए वन्दे मातरम है । मूलतः ये गाना बाबु रघुबीर नारायण ने तत्कालीन गिरमिटिया मजदूरों को केंद्र में रख के लिखा था, जो तत्कालीन ब्रिटिश हुकूमत के दौर में लालच में फंस के यूरोप के देशों के बिभिन्न उपनिवेशों में ले जाये जा रहे थे। यूरोपियन और अंग्रेज लोग गिरमिटिया मजदूरों को लालच में उन्हें फंसा कर वो उन्हें दूर देश ले गए जहाँ से वो कभी वापस ना आ पाए. वो उसी देश के होके रह गए जहाँ वो गए। उन देशों में मारीशस ,सूरीनाम ,त्रिनिदाद ,गुयाना ,फिजी ,जमैका ,हॉलैंड बारबोडस का नाम प्रमुखता से आता है ! इनमे से बहुसंख्य लोग भोजपुरी भाषी थे जो गिरमिटिया कहलाये ! ये गिरमिटिया लोग जहाँ भी गए अपने साथ भारत और इसकी संस्कृति ,खान पान और वेश भूसा लेके गए और वो वहां आज भी जिन्दा है . समय के साथ कुछ बदलाव आया है परन्तु तमाम झंझावातों के बावजूद आज भी भाषा ,गीत ,संगीत ,खान पान और वेश भूसा जिन्दा है ! आज भी बटोहिया गीत सुन्दर सुभूमि भैया गिरमिटिया वंशजो को भावुकता का अहसास करा देता है।

उन्ही अपने मादरे वतन से दूर देश ले जाये गए गिरमिटिया के वंशजों में से इक हैं हॉलैंड निवासी राज मोहन जो हमेशा भोजपुरी भाषा और गीत संगीत के लिए कार्यरत रहते हैं ! राज मोहन और भोजपुरी फिल्मकार देवेन्द्र सिंह ने मिलके इस गाने को २०२० के स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में उन्ही गिरमिटिया वन्शंजो को लेकर इस गाने को बनाने का संकल्प लिया और आज ये गान आपके सामने है. इस गाने में कुल ११ गायक हैं जो ७ देशों का प्रतिनिधित्व करते हैं और सबके सब भोजपुरिया वंशज हैं . पहली बार ये गाना उनके द्वारा गया जा रहा है जिनके लिए ये लिखा गया था

इस गाने में राजमोहन, टेरी गजराज, रागा मेन्नो, एंजेल अरुणा, इल्हाम अहमदाली, हेमेल्बेसेम, रुकसाना, विश्वजीत, छोटू बिहारी, आर्या नंदिनी और मुन्ना सिंह हैं, जो भारत, सूरीनाम ,हॉलैंड, मारीशस, फिजी, गुयाना, त्रिनिदाद और गुयाना का प्रतिनिधित्व करते है। ये पहली बार है कि किसी भोजपुरी गाने में ११ गायक है और वो सात अलग अलग देश के नागरिक हैं.इस गीत के इक गायक रागा मेन्नो जो अब नीदरलैंड के नागरिक है और गिरमिटिया वंशज हैं वो इस गीत के २ लाइन : मोर बाप दादा के कहानी रे बटोहिया को गाते गाते भावुक हो जाते हैं और कहते हैं की आज १५० साल बाद भी भारत हमारे दिल में है ! ये बटोहिया गीत सुन्दर सुभूमि भैया असली बटोहिया (गिरमिटिया) वंशजों के द्वारा २०२० स्वतंत्रता दिवस का इक उपहार है .

Batohiya, Girmitiya or Pravasi Majdoor

Batohiya song was written by Babu Raghubir Narayan from Dahiyawan, Saran, Bihar in 1911. Raghubir babu was an English writer before writing Batohiya. He was a freedom fighter as well. When he met Dr Rajendra Prasad he persuaded him to write in Bhojpuri and for the country. After persuasions from Dr. Rajendra Prasad finally, Raghubir Narayan wrote Batohiya Song Sundar subhumi bhaiya bharat ke deshwa. This song was written keeping Indentured labourers Or Girmitiya’s in mind. This song became so famous that it was considered National song for Bihar specially Bhojpuria people. Even when the great Mahatma Gandhi heard this song from Raghubir babu he said it is like Vande Mataram.

The grace of this song crossed the boundaries of the nations and the bhojpuria or purabiya people who went to many countries and labourer on early 1900 were called Girmitiya they took this song as a remembrance of their motherland. This song was the feel of their motherland Bharat.

The Batohiya song which depicted India as a heaven on earth and metaphorically portrayed how indentured Indians imagined their home country from the host country. The story is about the lakhs of Indian indentured labours, who were uprooted from their beloved homeland and sent away to different countries like Mauritius, Surinam, Guyana, Holland, Trinidad, Fiji in hope of better future. These indentured contractual labourers were called Girmitiya.

Girmitiya and Kantraki as they came to be known, once left, could never come back to India, and what did remain with them were the memories of their Sundar and Subhumi. This song is a tribute to all their hardships, struggles and the efforts to keep alive their Indian culture and traditions.

Raj Mohan(Singer and Music Director) is from Holland and he is one of from Girmitiya diaspora. He and Devendra Singh the Bhojpuri filmmaker planned to bring this song on 2020 Indian Independence.

This is the first Bhojpuri song which has got 11 singers from 7 different countries catering India, Surinam, Mauritius, Fiji, Trinidad, Guyana and Holland. The singers in the song are Terry Gajraj, Raj Mohan, Ragga Menno, Angel Aruna, Ilhaam Ahmadali, Hemelbesem, Ruksana, Vishwajeet Pratab Singh, Arya Nandini, Chhotu Bihari and Munna Singh. While speaking about this song one of the singer from this song Ragga Menno from the Netherlands became so emotional singing 2 lines More Bap dada ki kahani re Batohiya from this song. This song is a gift from Girmitiya Diaspora on the occasion of Indian independence day 2020.

Batohiya Song | सुंदर सुभूमि भइया | बटोहिया गीत | Girmitiya song | Indian diaspora | Raj Mohan

Producer: GFRecords (The Netherlands)
Co-producer: Raj Mohan I Devendra Singh (India) I Ragga Menno

Composition: Traditional & Raj Mohan
Lyrics: Babu Raghuvir Narayan
Lyrics spoken words: Hemelbesem
Programming & Mixing: Babak Rastagar (Austria)
Mastering: Mailmen Studio (The Netherlands)
Video: FOX Media Productions (The Netherlands)
Directed by: Raj Mohan
Editing: Ragga Menno
Translation English to Bhojpuri: Nityanand Tiwari (India)

Vocalists:
Munna Singh (India)
Chhotu Bihari (India)
Arya Nandini (India)
Vishwajeet Pratab Singh (India)
Hemelbesem (South Africa)
Terry Gajraj (Guyana / USA)
Angel ArunA (Suriname / The Netherlands)
Ilhaam Ahmadali (Suriname)
Rukshana (The Netherlands)
Raj Mohan (Suriname / The Netherlands)
Ragga Menno (Suriname / The Netherlands)

GFRecords
FOX Media Productions
Anjora
Jogira
Bhojpuria
Khanti Bhojpuria
Witty Froth Films
Magadhi Boys
Abee Chunes

©️ GFRecords Co. Raj Mohan & Ragga Menno, 2020. All rights of the producer and of the owner of the work reproduced reserved. Unauthorized copying, hiring, lending, public performance and broadcasting of this recording prohibited.

भोजपुरी के कुछ उपयोगी वीडियो जरूर देखीं

जोगीरा डॉट कॉम पऽ भोजपुरी पाठक सब खातिर उपलब्ध सामग्री

ध्यान दीं: भोजपुरी न्यूज़ ( Bhojpuri news ), भोजपुरी कथा कहानी, कविता आ साहित्य पढ़े  जोगीरा के फेसबुक पेज के लाइक करीं।

Leave a Reply