भोजपुरी फ़िल्म महोत्सव पटना

Bhojpuri Film Festival
Bhojpuri Film Festival
020 अक्टूबर , 2013उदघाटनकर्ता: माननीय मंत्रीगण
सम्मानित अतिथियों का मंच पर आगमन व स्वागत समय अप 1 बजेश्री निर्मल शाहाबादी
भव्य उदघाटन समय : अप 1.15 बजेराजकुमार शाहाबादी (फ़िल्म निर्माता)
गंगा मईया तोहे पियरी चढईबो की निर्माण कहानी (पुस्तिका) एवं ‘महोत्सव स्मारिका’ का विमोचनश्रीमती साधना सिंह (अभिनेत्र)
सम्मानित अतिथियों द्वारा संबोधन समय अप 1.35 बजे से 03:30श्री शैवाल, साहित्यकार व पटकथा लेखक
‘भोजपुरी सिनेमा का पचास साल-दशा और दिशा’ (वृतचित्र का प्रथम प्रदर्शन) समय अप 03.15 बजेडॉ. सुनील कुमार, (निर्माता व अध्यक्ष एबिहार झारखण्ड मोशन पिक्चर्स एसोशियेशन ए पटना सह माननीय विधायक )
“गंगा मईया तोहे पियरी चढईबो” प्रथम भोजपुरी फ़िल्म का प्रदर्शन समय अप 04.00 बजेश्री विनय बिहारी (गीतकार व माननीय विधायक)
श्री आनंदी मंडल, विधि सलाहकार, बिहार झारखण्ड मोशन पिक्चर्स एसोशियेशन, पटना
021 अक्टूबर , 2013मुख्य अतिथि
“दंगल” (प्रथम रंगीन भोजपुरी फीचर फ़िल्म ) समय : अप. 01.00 बजेश्री आलोक धन्वा (मशहूर जनकवि)
अतिथि कलाकारों का स्वागत व साक्षात्कार समय: अप 04.00 बजेडॉ. एन. एन.पाण्डेय (अभिनेता)
“देसवा” (फीचर फ़िल्म) समय: अप.05.00 बजेश्री नितिन चंद्रा
सुश्री आरती पुरी
श्री क्रांति प्रकाश झा
022 अक्टूबर , 2013मुख्य अतिथि
हमार देवदास (फीचर फ़िल्म ) समय: अप 01.00 बजेश्री मनोज तिवारी (अभिनेता)
अतिथि कलाकारों का स्वागत व साक्षात्कार समय: अप 04.00 बजेसुश्री रानी चट्टर्जी (अभिनेत्री)
ससुरा बड़ा पैसे वाला (फीचर फ़िल्म) समय : अप. 05.00 बजेश्री किरण कान्त वर्मा (निर्देशक)
डॉ. शान्ति जैन (गीतकार व साहित्यकार)
श्री अजय सिन्हा (निर्देशक)
023 अक्टूबर , 2013मुख्य अतिथि
जिनगी ह गाड़ी-सईयां ड्राईवर बीबी खलासी (फीचर फ़िल्म) समय : अप 01.00 बजेसुश्री रिंकू घोष (अभिनेत्री)
अतिथि कलाकारों का स्वागत व साक्षात्कार समय: अप 04.00 बजेश्री अंजनी कुमार (निर्देशक)
रणभूमि (फीचर फ़िल्म) समय : अप 05.00 बजेश्री अनिल अजिताभ (निर्देशक)
श्री दिनेशलाल यादव निरहुआ
श्री अभय सिन्हा (निर्माता)
024 अक्टूबर , 2013मुख्य अतिथि
पंडित जी बताईं ना बियाह कब होई (फीचर फ़िल्म) समय: अप 01.00 बजेश्री कुणाल सिंह (अभिनेता)
अतिथि कलाकारों का स्वागत व साक्षात्कार समय: अप 04.00 बजेश्रीमती आरती भट्टाचार्य (अभिनेत्री एवं भोजपुरी फिल्मों की पहली महिला निर्देशिका)
दगाबाज बलमा (फीचर फ़िल्म) समय : अप 05.00 बजेश्री मोहन जी प्रसाद (निर्देशक)
सुश्री सीमा सिंह (अभिनेत्री )
श्री आनंद मोहन पाण्डेय (गायक व अभिनेता), श्री विनय आनंद (अभिनेता)
025 अक्टूबर , 2013मुख्य अतिथि
कन्यादान (फीचर फ़िल्म) समय: अप 01.00 बजेश्रीमती दीपा नारायण ( पार्श्व गायिका व फ़िल्म निर्मात्री)
अतिथि कलाकारों का स्वागत व साक्षात्कार समय: अप 04.00 बजेश्रीमती मरीना उपाध्याय (निर्मात्री)
बिदेसिया ऑफ बम्बई (वृतचित्र) अप. 5 बजेश्री रवि किशन (अभिनेता)
कब होइहें गवना हमार (भोजपुरी की एकमात्र राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त फीचर फ़िल्म) समय: अप. 06.00 बजेश्री राहुल रॉय (अभिनेता)
श्री सुशील उपाध्याय (निर्देशक), श्री आनंद डी. गहतराज (निर्देशक), श्री महेश राजा (अभिनेता)
026 अक्टूबर , 2013मुख्य अतिथि
बलम परदेसिया (फीचर फ़िल्म ) समय: अप.01.00 बजेश्री राकेश पाण्डेय (अभिनेता)
अतिथि कलाकारों का स्वागत व साक्षात्कार समय: अप 04.00 बजेश्री मुमताज हुसैन (निर्माता )
समापन समारोह के दौरान वीणा सिनेमा,पटना के मालिक श्री हिरा बाबू का विशेष सम्मान होना है अप . 04.30 बजेश्री आनंदी मंडल , विधि सलाहकार , बिहार झारखण्ड मोशन पिक्चर्स एसोशियेशन , पटना
डॉ. सुनील कुमार( निर्माता सह अध्यक्ष, बिहार झारखण्ड मोशन पिक्चर्स एसोशियेशन , पटना एवं माननीय विधायक)
श्री विनय बिहारी (गीतकार व माननीय विधायक), श्रीमती कल्पना पटवारी (गायिका), श्री सुदीप पाण्डेय (अभिनेता)
सलाहकारकार्यकारणी
आर .एन . दास (अवकाश प्राप्त भा.प्र. से.) उपाध्यक्ष, बिहार आर्ट थियेटर, पटनाप्रदीप गांगुली, महोत्सव संचालक
डॉ. जयमंगल देव अध्यक्ष, सिने सोसाइटी, पटनाआशुतोष पाण्डेय महोत्सव प्रचार प्रबंधक
गौतम दास गुप्ता सचिव, सिने सोसाइटी, पटनाज्ञान रंजन, महोत्सव सहायक
श्री आलोक रंजन, भोजपुरी फिल्मों के प्रथम इतिहासकारअजय यादव, महोत्सव तकनिकी सहायक
कुमार अनुपम, महासचिव, बिहार आर्ट थियेटर, पटनाप्रशांत- निशांत, महोत्सव प्रेस प्रबंधक, रंजन सिन्हा, महोत्सव सहायक प्रेस प्रबंधक

भोजपुरी फ़िल्म महोत्सव पटना

फिलहाल उक्त अतिथियों के नाम उनसे आग्रह के दौरान आश्वासन पर प्रस्तावित हैं, अधिकांश अतिथियों से बधाई सन्देश के साथ लिखित रूप से स्वीकृति भी प्राप्त हुई है, कुछ के लिए पुरी अपेक्षा के साथ प्रतीक्षा में हूँ |

नोट : इस महोत्सव में शामिल फिल्मों के सन्दर्भ में स्पष्ट विचार है कि भोजपुरी फ़िल्म महोत्सव समिति कहीं से भी यह दावा नहीं करती है कि उक्त दिखलाई जाने वाली फ़िल्में भोजपुरी की श्रेष्ठ फ़िल्में ही हैं, बल्कि कोशिश यह रही है कि सिमित संसाधन और समय के दायरे में रह कर भोजपुरी भाषा में बनी विभिन्न प्रकार के फिल्मों से सिने प्रेमियों को रु-ब-रु कराया जाय एवं भोजपुरी सिनेमा का स्वर्णिम वर्ष के मौके पर ईश्वर से यह प्रार्थना करें कि और शिद्दत व मजबूती के साथ आगामी शताब्दी वर्ष भी पुरा करे |

यह भी स्पष्ट कर दूँ कि महोत्सव में शामिल होने के लिए हमने सैकड़ों संबंधित कलाकारों और बुद्धिजीवियों से संपर्क साधा है , हम उन तमाम लोगों को भी आमंत्रित करते हैं जो सिनेमा के हर विधा से जुड़े हुए हैं , या सिने प्रेमी हैं | किसी भी रूप में महोत्सव में शामिल होने वाले एक एक व्यक्ति हमारे लिए अतिमहत्वपूर्ण हैं | किसी भी तरह के भूल चूक के लिए आप तमाम महानुभावों से क्षमा दान चाहूँगा |

रउवा खातिर:
भोजपुरी मुहावरा आउर कहाउत
देहाती गारी आ ओरहन
भोजपुरी शब्द के उल्टा अर्थ वाला शब्द

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × 1 =