भोजपुरी के कवि और काव्य : श्री दुर्गाशंकर प्रसाद सिंह

भोजपुरी के बढ़िया वीडियो देखे खातिर आ हमनी के चैनल सब्सक्राइब करे खातिर क्लिक करीं।

भोजपुरी के कवि और काव्य : बिहार-सरकार के शिक्षा-विभाग के संरक्षण में बिहार-राष्ट्रभापा: परिषद् के कार्यकलाप का श्री गणेश सन् १९५० ई० के मध्य में हुआ था। उसी समय प्रस्तुत पुस्तक ( भोजपुरी के कवि और काव्य ) की पाण्डुलिपि प्रकाशनार्थ प्राप्त हुई थी। इसका विशाल पोथा देखकर आरम्भ में ही आशंका हुई थी कि इसके प्रकाशन में काफी समय लगेगा वह आशंका ठीक निकली।

सचमुच इसके सम्पादन और प्रकाशन में आठ वर्षों का बहुत लम्बा समय लग गया। इसके साथ ही आई हुई दूसरी पुस्तक दो साल बाद ही प्रकाशित हो गई; क्योंकि उसका सम्पादन-कार्य शीघ्र ही सम्पन्न हो गया और इसके सम्पादन में अनेक विघ्न-बाधाओं के कारण आशातीत समय लग गया।

यह ग्रन्थ उन थोड़ी सी गिनी महत्त्वपूर्ण पुस्तकों में है, जिनको बिहार राष्ट्रभाषा-परिषद् ने अपने जन्म के प्रथम वर्ष में ही प्रकाशनार्थं स्वीकृत किया था।

श्री दुर्गाशंकर प्रसाद सिंह
श्री दुर्गाशंकर प्रसाद सिंह

किताब : भोजपरी के कवि और काव्य
लेखक : दर्गाशंकर प्रसाद सिंह
प्रकाशक : बिहार-राष्ट्रभाषा परिषद, पटना (बिहार)
संपादक : डा. विश्वनाथ प्रसाद
पहिला संस्करण: 1958

इस किताब मे आपको सन 700 ई. से ले के 1950 ई. तक का भोजपुरी भाषा आ साहित्य का इतिहास और भोजपुरी के कवि और उनके काव्य इस किताब मे मौजूद है।

भोजपुरी के कवि और काव्य विषय-सूची

(१) भूमिका
भोजपुरी-भाषी प्रदेश-१, भोजपुर और उससे भोजपुरी का सम्बन्ध-४, भोजपुरी–१०, भोजपुरी : भाषा या बोली ?–१५, भेदोपभेद-१७, भोजपुरी के शब्द, मुहावरे, कहावतें और पहेलियाँ-२०, कहानी-साहित्य-२५, व्याकरण की विशेषता-२६, भोजपुरी-गद्य का इतिहास-२८, भोजपुरी का काव्य-साहित्य-३०

(२) आठवीं सदी से ग्यारहवीं सदी तक
प्रारंभिक काल-१, चौरंगीनाथ-४, सरहपा-८, शबरपा-१०, भूसुक-११, विरुपा-१२, डोम्भिपा-१३, कम्बलपाद-१३, कुक्कुरिपा-१४, गोरखनाथ–१४, गोरखबानी के भोजपुरी छन्द-२०, भत्तृहरि-२८

भोजपुरी के कवि और काव्य : श्री दुर्गाशंकर प्रसाद सिंह
भोजपुरी के कवि और काव्य : श्री दुर्गाशंकर प्रसाद सिंह

(३) चौदहवीं सदी से १६ वीं सदी तक
महात्मा कबीरदास-३२, कमालदास-४७, धरमदास-४८, भड्डरी-५८, घाघ-६६, डाक-८८, बाबा बुलाकीदास अथवा बुल्ला साहब-६०, महाकवि दरियादास-६२, धरनीदास-४, सैयद अली मुहम्मद शाद-८, रामचरित्र तिवारी-६, शंकरदास–१००, बाबा रामेश्वरदास-१०२, परमहंस शिवनारायण स्वामी-१०४, पलदास-१०७, रामदास-१०६, गुलाल साहब-११०, रामनाथ दास-१११, भीखासाहब-११२, दुल्लहदास-११३, नेवलदासजी-११३, बाबा नवनिधि दास-११४, वाबा शिवनारायणजी-११५, बाबा रामायणदास-११५, देवीदास-११६, सुवचन दासी-११६, राममदारी-११५, सरभंग-सम्प्रदाय (भीखम राम, टेकमन राम, स्वामी भिनकरामजी)-११६-१२२, छत्तर बाबा-१२४, श्री जोगेश्वर दास ‘परमहंस-१२४, केसोदास जी-१२५, तोफा राय-१२६, श्री लक्षमी सखी जी-१२६, तेग अली ‘तेग’-१३६, महाराज खड्गबहादुर मल्ल-१३६, पंडित बेनी राम–१४२, बाबू रामकृष्ण वो ‘बलवीर-१४२, महाराज कुमार श्री हरिहरप्रसाद सिंह-१४६, कवि टाँकी-१४६, साहेब दास-१४६, रमैया बाबा-१५०, श्रीबकस कवि-१५०, लछुमन दास-१५१, सुन्दर (वेश्या)-१५२, अम्बिकाप्रसाद-२५४, कवि बदरी-१५७, विश्वनाथ–१५८, रघुवंश जी-१५६, सुखदेवजी-१५६, राम अभिलाष-१६०, रजाक-१६१, शिवशरण पाठक-१६१, कवि हरिनाथ-१६२, हरिहरदास-१६४, मिट्ट, कवि-१६५, जोगनारायण-‘सूरदास’-१६८

(४) बीसवीं सदी और आधुनिक का
बीसू-१६६, महादेव–१७१, वेचू–१७२, खलील और अब्दुल हबीब-१७२, घीसू-१९३, धोरू-१७४, रसिक-१७४, चुन्नीलाल और गंगू–१७५, काशीनाथ-१७५, बटुकनाथ-१७६, बच्ची लाल-१७६, जगन्नाथरामजी-१७७, बिसेसर दास-१७८, जगरदेव-१७८, जगन्नाथ राम, धुरपत्तर और वुद्ध-१७६, रसिक जन-१८०, लालमणि-१८१, मदनमोहन सिंह-१८३, कवि सुरुज लाल-१८४, अम्बिकादत्त व्यास-१८६, शिवनन्दन मिश्र ‘नन्द’-१८६, बिहारी-१८५, खुदाबक्स-१८८, मारकंडे दास-१८८, शिवदास–१८६, दिलदार-१८६, भैरो-१८६, ललर सिंह-१६२, रूपकला जी -१९३, द्वारिकानाथ ‘किंगई’-१६४, दिमाग राम-१६४, मोती-१६६, मतई-१६६, रसीले-१६५, मानिक लाल-१६८, फनीन्द्र मुनि-२००, भागवत आचारी-२०१, शायर महादेव-२०१, नरोत्तम दास-२०१, कैद-२०२, भगेल-२०३, अजमुल्ला -२०४, रामलाल-२०५, पनू-२०५, देवीदास-२०६, भग्गू लाल और बुझाचन २०६ बिहारी-२०७, श्री कृष्ण त्रिपाठी–२०८, शायर शाहवान-२०६, गूदर-२०६, होरी लाल-२१०, चन्द्रभान-२११, शायर निराले–२११, रसिक किशोरी-२१२, जगेसर-२१२, देवीदास-२१३, भगवान दास ‘छबीले’-२१३, श्री केवल-२१३, केशवदास-२१४, रामाजी-२१५, राजकुमारी सखी-२१५, बाबू रघुवीर नारायण-२१६, महेन्द्र मिश्र-२१७, देवी रणय-२१८, रामवचन बिवेदी ‘अरविन्द’-२१८, भिखारी ठाकुर-२२०, दूधनाथ उपाध्याय-२२२, माधव शुक्ल-२२३, राय देवीप्रसाद पूर्ण-२२३, शायर मारकरडे-२२४, रामाजी-२२५, चंचरीक-२२६, मन्नन द्विवेदी ‘गजपुरी’-२२७, सरदार हरिहर सिंह-२२८, परमहंस राय-२२६, महेन्द्र शास्त्री-२३०, रामविचार पाण्डेय-२३१, प्रसिद्धनारायण सिंह-२३२, शिवप्रसाद मिश्र ‘रुद्र’ या ‘गुरू बनारसी-२३५, डॉ. शिवदत्त श्रीवास्तव ‘सुमित्र’-२३६, वसुनायक सिंह-२३५, रामप्रसाद सिंह ‘पुण्डरीका-२३७, बनारसी प्रसाद ‘भोजपुरी’-२३८, सिद्धनाथ सहाय ‘विनयी-२४०, वसिष्ठ नारायण सिंह-२४०, भुवनेश्वर प्रसाद ‘भानु-२४१, विमला देवी ‘रमा’-२४२, मनोरंजन प्रसाद सिंह-२४३, विन्ध्यवासिनी देवी-२४६, हरीशदत्त उपाध्याय-२४७, रघुवंश नारायण सिंह-२४८, महादेव प्रसाद सिंह ‘घनश्याम’-२४६, युगल किशोर-२५१, मोतीचन्द सिंह-२५२, श्यामविहारी तिवारी ‘देहाती’-२५२, लक्ष्मण शुक्ल ‘मादक – २५३, चाँदी लाल सिंह-२५४, ठाकुर विश्राम सिंह-२५४, बाबा रामचन्द्र गोस्वामी-२५५, महेश्वर प्रसाद-२५७, रघुनन्दन प्रसाद ‘अटल’-२५७, कमलाप्रसाद मिश्र ‘विप्र’-२५७, रामेश्वर सिंह काश्यप-२४६, रामनाथ पाठक ‘प्रणयो’ -२६१, मुरलीधर श्रीवास्तव ‘शेखर’-२६२, विश्वनाथ प्रसाद ‘शैदा’-२६३ मूसा कलीम-२६५, शिवनन्दन कवि-२६६, गंगा प्रसाद चौबे ‘हुरदंग’-२६५, अर्जुन कुमार सिंह ‘अशान्त’-२६७, उमाकान्त वर्मा-२६६, बरमेश्वर ओझा ‘विकल’-२६६, गोस्वामी चन्द्रेश्वर भारती-२७०, सूर्यलाल सिंह-२७१, पाण्डेय कपिलदेव नारायण सिंह-२७२, भूपनारायण शर्मा ‘व्यास’-२७३, सिपाही सिंह ‘पागल’-२७४, शालिग्राम गुप्त ‘राही’-२७४, रामवचन लाल-२७५, नथुनी लाल-२७५, वसन्त कुमार-२७६, हरेन्द्रदेव नारायण-२७७, दुर्गाशंकरप्रसाद सिंह-२७८ ।

श्री दुर्गाशंकर प्रसाद सिंह जी के लिखल भोजपुरी के कवि और काव्य किताब डाउनलोड करे के खातिर क्लिक करीं

अउरी भोजपुरी किताब पढ़ें खातिर क्लिक करीं


भोजपुरी के कुछ उपयोगी वीडियो जरूर देखीं

जोगीरा डॉट कॉम पऽ भोजपुरी पाठक सब खातिर उपलब्ध सामग्री

ध्यान दीं: भोजपुरी न्यूज़ ( Bhojpuri news ), भोजपुरी कथा कहानी, कविता आ साहित्य पढ़े  जोगीरा के फेसबुक पेज के लाइक करीं।

Leave a Reply