अनका के पाँडे दिन देले अपने चलेले भदरा में

दोसरा के उपदेस देबे के बेर सभे शिष्ट बन जला, बाकिर अपना बेर सभ शिष्टता भुला जाला। “परोपदेशे बेलायम्: शिष्टता सर्वे भवन्ति ते विस्मरन्तिह शिष्ट्व स्व्कर्य समुपस्थिते”

भदरा मे कउनो सुभ काम ना कइल जाला, जइसन की पंडित लोग बतावेला। बाकिर ई उपदेश दोसरखातिर होला | ज़रूरत परला पर अपने बतावल नियम अपना लोग तूर देला। एसे कहल जाला उपदेश दोसरखातिर सहज होला, बाकिर अपना खातिर कठिन।

दोसरा के उपदेश दिहल बड़ा आसान होला।

रउवा खातिर:
भोजपुरी मुहावरा आउर कहाउत
देहाती गारी आ ओरहन
भोजपुरी शब्द के उल्टा अर्थ वाला शब्द
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : पहिलका दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : दुसरका दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : तिसरका दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : चउथा दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : पांचवा दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : छठवा दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : सातवा दिन
कइसे भोजपुरी सिखल जाव : आठवाँ दिन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 + sixteen =