भोजपुरी मुहावरा और अर्थ : पहिला भाग

भोजपुरी मुहावरे और अर्थ : पहिला भाग
भोजपुरी मुहावरे और अर्थ : पहिला भाग

जोगीरा डॉट कॉम के ई सतत प्रयास बा की आपन भोजपुरी भाषा आगे बढ़े आ भोजपुरी के ऑनलाइन के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा लोगन तक पहुचावल जाव, एह कड़ी के आगे बढ़ावत जोगीरा लेके आइल बा भोजपुरी मुहावरा, जहा प रउवा भोजपुरी मुहावरा के बारे में पढ़ेब और ओकरा बारे में जानेब ओकर अर्थ के साथ ।

जरूर देखीं: भोजपुरी शब्दकोश : Bhojpuri Dictionary

आखिर ह का मुहावरा, भोजपुरी मुहावरा
मुहावरा अपना भोजपुरी भाषा के एगो अभिन्न अंग ह, एकरा बिना भोजपुरी भाषा भा साहित्य पूरा नइखे होसकत। भोजपुरी भासा के बोल चाल में मुहावरा के प्रयोग खूब होला।

परिभाषा: अइसन वाक्यांश जवन आपन साधारण अर्थ छोड़ के कवनो विशेष मतलब आ अर्थ की ओर ले जाव भा व्यक्त करो ओकरा के मुहावरा कहल जाला।

हमरा कम उमेद बा की केहू भोजपुरी अपना गावं-घरे में बूढ़ पुरनिया से मुहबरा ना सुनले होइ, लेकिन अब भोजपुरी मुहावरा के उपयोग कम होखत जा ता।

जरूर पढ़ीं: भोजपुरी सीखे : Learn Bhojpuri

भोजपुरी मुहावरा और अर्थ – Idioms in Bhojpuri with meaning

  1. अँतड़ी दुहाइलकाफी श्रम/मेहनत
  2. अंकवार लिहल – गले मिलना/लगाना
  3. अंगुरियावल – बार-बार उत्प्रेरित करना/किसी काम के लिए उसकाना
  4. अंगुरी उठावल – शान के खिलाफ, विरोध करना
  5. अंगुरी चबावल – अफसोस करना
  6. अंगुरी देखावल – दोषी ठहराना
  7. अंगुरी पर गिनल – गिने-चुने
  8. अंगुरी प नचावल – अपनी इच्छानुसार चलाना / किसी से अपने हिसाब से काम कराना
  9. आँचर खुलल – निर्लज्ज होना
  10. आन्हरा के लाठी – असमर्थ का एकमात्र सहारा।
  11. आन्हरा में काना राजा – गुणहीनों के समाज में थोड़े गुण वाले को श्रेष्ठ समझा जाना।
  12. अकल के कोल्हू – मूर्ख, मोट बुद्धि वाला
  13. अकिल गायब होखल – दिमाग/बुद्धि का काम न करना।
  14. अकिला फुआ – खुद ज्ञान न होना, दूसरे को बुद्धि देना, जरूरत से ज्यादा होशियारी दिखाने वाले पे व्यंग
  15. अकिल के आन्हर – मूर्ख; जिसमें समझ न हो।
  16. अखर गइल – नागवार गुजरना
  17. अगिया बैताल – क्रोध में पागल
  18. अछरंग लगावल – दोष लगाना/दोषी ठहराना
  19. अड़ियल ट्टटू – जड़, जिद्दी, जो बात न माने
  20. अथा माई के कथा कहल – निरर्थक बतकही
  21. अनका जूंजी मूतल – दूसरे के बल पर कूदना
  22. अनबोलता काना – चुप्पा, जानबूझ कर न बोलन वाला
  23. अनूना देह में नून रगरल – निर्दोष को दोषी बताना
  24. आकाल पड़ल – कमी हो जाना; दुर्लभ होना।
  25. अकारथ भइल – व्यर्थ होना

ध्यान दीं: भोजपुरी कथा कहानी, कविता आ साहित्य पढ़े खातिर जोगीरा के फेसबुक पेज के लाइक करीं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × one =